फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News वायरल न्यूज़क्या जेपी नड्डा ने भाजपा के भदोही प्रत्याशी को लिखा खत? क्यों वायरल हो रहा ये लेटर, सच्चाई जान लीजिए

क्या जेपी नड्डा ने भाजपा के भदोही प्रत्याशी को लिखा खत? क्यों वायरल हो रहा ये लेटर, सच्चाई जान लीजिए

सोशल मीडिया पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा की तरफ से जारी किया गया एक कथित लेटर वायरल हो रहा है, जो उन्होंने कथित तौर उत्तरप्रदेश के भदोही से लोकसभा प्रत्याशी विनोद बिंद को लिखा है।

क्या जेपी नड्डा ने भाजपा के भदोही प्रत्याशी को लिखा खत? क्यों वायरल हो रहा ये लेटर, सच्चाई जान लीजिए
Newschecker लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 20 May 2024 10:16 PM
ऐप पर पढ़ें

सोशल मीडिया पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा की तरफ से जारी किया गया एक कथित लेटर वायरल हो रहा है, जो उन्होंने कथित तौर उत्तरप्रदेश के भदोही से लोकसभा प्रत्याशी विनोद बिंद को लिखा है। इस लेटर में यह दावा किया जा रहा है कि जेपी नड्डा ने भदोही में भाजपा के पिछड़ने को लेकर चिंता जताई है। हालांकि हमने अपनी जांच में पाया कि वायरल लेटर फर्जी है। भाजपा के प्रवक्ता संजय मयूख ने भी इसका खंडन किया है।

जेपी नड्डा की तरफ से कथित तौर पर जारी किए गए इस लेटर में लिखा हुआ है, “आदरणीय विनोद बिंद जी। भाजपा के पूरे परिवार की तरफ से आपको आगामी चुनाव के लिए बहुत सारी शुभकामनाएं। आदरणीय श्री मोदी जी के नेतृत्व में हमारे अबकी बार 400 पार नारे को धरातल पर उतारने हेतु आप निरंतर जमीन पर काम कर रहे हैं। भाजापा का 400 सीटों का संकल्प पूरा हो उसके लिए भदोही लोकसभा सीट का हमारे नारे से परस्पर कंधे से कंधा मिलाकर चलना अत्यंत जरूरी है और अनिवार्य भी, उसी संदर्भ में यह पत्र मैं आपको लिख रहा हूं।”

आगे लिखा हुआ है, “विगत 15 दिन से पार्टी आपकी भदोही लोकसभा में पिछड़ती जा रही है, यह अत्यंत चिंता का विषय है और जरूरी है कि हम तत्काल प्रभाव से इसपे आपस में बैठ कर चर्चा करें और समीक्षा करके आने वाले गत 15 दिन का कायाकल्प तैयार करें। भदोही की राजनीतिक इस्तिथि को सुधारने हेतु तथा अपनी पकड़ को मजबूत बनाने के उद्देश्य से हमने तत्काल प्रभाव से आदरणीय प्रधान मंत्री जी की सभा भदोही में आगामी 16 मई को आयोजित करा दी गयी है. मैं इसी संदर्भ में आपको यह पत्र लिख रहा हूं, और आपसे निवेदन है कि जल्दी से जल्दी आप हमारे दिल्ली कार्यालय पर आएं। मैं पूरे विश्वास के साथ आपको इस बात से अवगत कराना चाहता हूं की हमारी परस्तिथि अभी भी मज़बूत है और समीक्षा के उपरांत तप हुआ कार्यक्रम यदि आप सुचारू ढंग से धरातल पर उतार देंगे तो भदोही भी हमारे 400 परिवार का हिस्सा बनेगी।”

Fact Check/Verification

वायरल लेटर को ध्यान से पढ़ने पर हमें कई तरह की अशुद्धियां देखने को मिलीं, जो आमतौर पर इस तरह के लेटर में नहीं होती हैं.

इसके बाद हमने वायरल लेटर में किए जा रहे दावे से जुड़ी न्यूज रिपोर्ट्स को खंगाला। इस दौरान हमें ऐसी कोई रिपोर्ट नहीं मिली। हालांकि, हमें 16 मई को भदोही में आयोजित की गई पीएम मोदी की रैली से जुड़ी कई रिपोर्ट्स मिलीं। इसी दौरान हमें 12 मई 2024 को अमर उजाला की वेबसाइट पर प्रकाशित रिपोर्ट मिली। इस रिपोर्ट में बताया गया था कि 16 मई को भदोही में होने वाली पीएम मोदी की रैली की पार्टी कार्यकर्ताओं और प्रशासन ने तैयारियां शुरू कर दी हैं।

हालांकि, इस दौरान हमें ऐसी कोई रिपोर्ट नहीं मिली जिसमें यह ज़िक्र किया गया हो कि भदोही में हुई पीएम मोदी की रैली असल में कब तय की गई थी। इसके बाद हमने वायरल लेटर का मिलान जेपी नड्डा की तरफ से जारी किए गए असल लेटर से किया। इस दौरान हमें नवभारत टाइम्स की वेबसाइट पर प्रकाशित एक ऐसा ही लेटर मिला, जो भाजपा अध्यक्ष ने लोजपा (रामविलास गुट) के अध्यक्ष चिराग पासवान को लिखा था।

जब हमने इन दोनों लेटर का मिलान किया तो हमें कुछ अंतर देखने को मिले, जैसे वायरल लेटर में लेटर जारी करने की कोई तारीख और उसे प्राप्त करने वाले के स्थान का कोई ज़िक्र नहीं किया गया था, जबकि असल लेटर में ये दोनों चीजें मौजूद थी।

इसके बाद हमने अपनी जांच को आगे बढ़ाते हुए भाजपा के राष्ट्रीय मीडिया कन्वेनर संजय मयूख से संपर्क किया। उन्होंने कहा कि वायरल लेटर फर्जी है, ऐसा कोई पत्र राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के कार्यालय से जारी नहीं किया गया है।

अब हमने उत्तर प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष चौधरी भूपेंद्र सिंह से भी संपर्क किया, जिनका नाम वायरल लेटर में मौजूद है और जिन्हें कथित तौर पर इस लेटर की प्रतिलिपि भेजी गई थी। उन्होंने हमें बताया कि “हमें ऐसा कोई लेटर नहीं मिला है और हमारे यहां इस तरह की परंपरा नहीं है कि किसी को मीटिंग में बुलाने के लिए पत्र लिखा जाए. इसलिए यह लेटर फर्जी ही होगा।”

हमारी जांच में मिले साक्ष्यों से यह साफ़ है कि वायरल लेटर फर्जी है।

(डिस्क्लेमर: इस खबर को Newschecker ने प्रकाशित किया था। अब लाइव हिन्दुस्तान ने इसे Shakti Collective के तहत पुनर्प्रकाशित किया है।)