DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिक्षक ने अपनी सैलरी से बनवाए छात्राओं के लिए टॉयलेट, यूनिसेफ ने सराहा

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर के एक कॉलेज में पढ़ाने वाले शिक्षक ने अपनी एक महीने की सैलरी से 400 छात्राओं के लिए टॉयलेट बनवाए हैं। शिक्षक सुनील दीक्षित ने छात्राओं की शौचालय की समस्या को दूर करते हुए खुद के प्रयास से पांच टॉयलेट बनावाए हैं। यूनिसेफ इंडिया ने भी इस शिक्षक के प्रसायों की सराहना की है और कहा है कि स्वच्छ भारत की दिशा में उठाया गया यह कदम सराहनीय है। 

बुलंदशहर के खानपुर क्षेत्र के लढ़ाना गांव में जनता शिक्षा सदन इंटर कॉलेज’ के असिस्टेंट टीचर ने 400 छात्राओ के लिए शौचालय बनावाए हैं। अध्यापक सुनील कुमार दीक्षित ने अपने वेतन से करीब 80 हजार रुपए इस नेक मुहिम में दान देने का फैसला लिया। दीक्षित ने स्कूली लड़कियों को गंदगी से आजादी दिलाने का जो सपना देखा था उसे पूरा किया और स्कूल में अपने वेतन से छात्राओं के लिए 5 शौचालय बनवाए। इन शौचायलों में साफ-सफाई और पानी का बंदोबस्त किया गया है ताकि छात्राओं को किसी तरह की समस्या ना हों। सुनील कुमार दीक्षित का मानना है कि देश की बेटियां तभी बढ़ेंगी जब उन्हें बराबर के मौके और बेहतर माहौल मिल सके। उन्होंने जब कॉलेज ज्वाइन किया तो देखा कि उनके यहां शौचालय बेहद गंदे हैं। छात्राएं सहज महसूस नहीं करती थीं। इसे देखते हुए उन्होंने अपनी एक महीने की सैलरी से 5 टॉयलेट बनवा दिए। 

बुलंदशहर के डीएम ने अध्यापक सुनील कुमार दीक्षित की इस पहल को सराहते हुए सोशल मीडिया पर लिखा। डीएम रविंद्र कुमार ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'एक शिक्षक के जज्बे को सलाम, जिन्होंने अपने तनख्वाह से महिला शौचालय बनवाया।' बुलंदशहर के इस स्कूल में बदलाव का असर दिखाई देना भी शुरू हो चुका है।

शौचालय ना होने के चलते घर बैठने वाली छात्राएं अब नियमित स्कूल आ रही हैं. हाल ही में इसका उद्धाटन जिला विद्यालय निरीक्षक आरके तिवारी ने किया है। इसके अलावा सुनील कुमार दीक्षित ने सभी कक्षाओं में पंखे लगवाने की पहल भी की है ताकि स्कूली छात्रों को गर्मी से भी निजात दिलवाई जा सके। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bulandshahr Teacher Donate His Salary For making toilets for girl students