Poet Kalim Kaiser made poem for the event of Hindustan - शायर कलीम कैसर ने ‘हिन्दुस्तान’ के आयोजन के लिए रचीं पंक्तियां 1 DA Image
23 नवंबर, 2019|1:37|IST

अगली वीडियो

शायर कलीम कैसर ने ‘हिन्दुस्तान’ के आयोजन के लिए रचीं पंक्तियां

live hindustan
‘जो एक हैं सब नेक हैं, सबको यही बतलाना है, हर एक को समझाना है। आंसू हमारे एक हैं, खुशियां हमारी एक हैं, हम सभ्यता के हैं धनी ,हम संस्कृतियों के ऋणी हम हैं रवायत के अमी हम जैसा दुनिया में नहीं सबसे अलग, सबमें जुदा भारत की अपनी अस्मिता
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Poet Kalim Kaiser made poem for the event of Hindustan