DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   वीडियो  ›  झारखण्ड  ›  लद्दाख से दिल्ली के रास्ते कल रांची लौटेंगे 115 मजदूर, पेट के कारण हड्डियां गलाने को थे मजबूर
झारखण्ड

लद्दाख से दिल्ली के रास्ते कल रांची लौटेंगे 115 मजदूर, पेट के कारण हड्डियां गलाने को थे मजबूर

Sun, 07 Jun 2020 02:04 PM

जहां सिंधु नदी दिन में बह कर शाम ढलते बर्फ बनने लगती है, जिस जगह की जलवायु अत्यंत कठोर और शुष्क है। जहां गर्मियों में भी बर्फ जमा होता है और सर्दियों में तापमान शून्य से कई डिग्री सेल्सियस नीचे चला जाता है। वहां चंद रुपयों के लिए हड्डियां गलाने वाली ठंड में झारखंड के मजदूर काम करने को मजबूर हैं। लेह-लद्दाख की ऐसी मुश्किल ऊंची चोटियों पर अपने बच्चों की पेट की भूख मिटाने के लिए सितंबर में झारखंड के मजदूर सड़क बनाने जाते हैं। मार्च में फसल का समय होने पर लौट आते हैं। इनकी जिंदगी का यह क्रम लॉक डाउन में टूट गया। अपनी ऐसी दर्जनों तकलीफ मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को सुनाने वाले 155 श्रमिकों को सरकार वापस ला रही...