DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डिमिच गांव के ग्रामीणों ने श्रमदान कर खोला मार्ग

डिमिच गांव के ग्रामीणों ने श्रमदान कर खोला मार्ग

विकासखंड के अंर्तगत डिमिच गांव के ग्रामीणों ने सरकार को आइना दिखाने का काम किया है। चार दिनों से बंद मार्ग पर जब किसी की नजर नहीं पड़ी, तो ग्रामीणों ने खुद श्रमदान कर मार्ग को चलने लायक बनाया। सोमवार को दिनभर डिमिच गांव के ग्रामीणों का यह कार्य चर्चाओं का विषय बना रहा। क्षेत्र में चार दिनों की भारी बारिश ने जमकर कहर मचाया। कई मोटर और संपर्क मार्गों के साथ गांवों के पैदल मार्ग भी मलबे में दब गए। जिससे ग्रामीणों का आवागमन पूरी तरह ठप हो गया था। ऐसा ही कुछ हाल, डिमिच गांव में भी बना हुआ था। गांव का पैदल मार्ग मलबे में दब जाने से ग्रामीणों की आवाजाही पूरी तरह ठप थी। हालांकि, ग्रामीणों ने तहसील प्रशासन से लेकर क्षेत्र जन प्रतिनिधियों से भी इसकी शिकायत की। लेकिन, किसी ने कोई सुध नहीं ली। जिसपर ग्रामीणों ने खुद ही श्रमदान कर मार्ग को खोलने का निर्णय लिया। सोमवार शाम तक ग्रामीणों ने कड़ी मेहनत के बाद मार्ग को चलने लायक बना दिया। श्रमदान करने वालों में टीकम सिंह, अतर सिंह, कल्याण सिंह, धर्म सिंह, खजान सिंह, ज्योतिराम गौड, जसराम, प्रदीप, जीत सिंह, पीके चौहान, रमेश आदि शामिल रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Villagers of the village of Diimich opened the Shramdan tax