DA Image
29 फरवरी, 2020|1:00|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्रामीणों को दिया बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का संदेश

ग्रामीणों को दिया बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का संदेश

विकासनगर। हमारे संवाददाताबाल विकास परियोजना सहसपुर की ओर से दूरस्थ गांव किमाड़ी में बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें परियोजना अधिकारी देवेन्द्र थपलियाल ने ग्रामीणों को बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के प्रति जागरूक किया। मंगलवार सुबह किमाड़ी गांव में आयोजित जागरूकता कार्यक्रम का शुभारम्भ परियोजना अधिकारी देवेन्द्र थपलियाल ने किया। उन्होंने ग्रामीणों को बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का संदेश देते हुए इस अभियान को सफल बनाने की अपील की। कहा कि आज बेटियां किसी भी क्षेत्र में बेटों से कम नहीं हैं। लेकिन, लोगों की सोच आज भी नहीं बदल सकी है। जिसे बदलने के लिए हमें बेटियों को पढ़ाना होगा। उन्होंने ग्रामीणों से अपने बेटों की भांति बेटियों को भी बेहतर शिक्षा देने की बात कही। इतना ही नहीं, उन्होंने ग्रामीणों को बाल विकास परियोजना के साथ प्रदेश सरकार की ओर से बेटियों की शिक्षा के लिए चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं की जानकारी भी दी। अंत में महिलाओं को नवजात शिशुओं के लिए बेबी किट भी प्रदान की गई। इस मौके पर सूपरवाईजर ममता लेखक, रेखा भंडारी, अनीता काम्बोज, लक्ष्मी, वर्षा, मीरा, गीता, दिव्या, कल्याणी आदि मौजूद रही।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The message given to the villagers by saving daughters and daughters