DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तराखंड  ›  विकासनगर  ›  स्पोर्ट्स कारोबारी माली हालत सुधारने को कर रहे प्रापर्टी का कारोबार

विकासनगरस्पोर्ट्स कारोबारी माली हालत सुधारने को कर रहे प्रापर्टी का कारोबार

हिन्दुस्तान टीम,विकासनगरPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 06:20 PM
स्पोर्ट्स कारोबारी माली हालत सुधारने को कर रहे प्रापर्टी का कारोबार

विकासनगर। संवाददाता

कोरोना संक्रमण की मार से स्पोर्ट्स कारोबारी भी बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। अनलॉक की प्रक्रिया के दौरान भी इस कारोबार से जुड़े व्यवसायियों की दुकानें लगभग सूनी पड़ी रही हैं। जिससे उनके सामने दुकान का खर्चा चलाने के साथ ही परिवार के पालन पोषण का संकट पैदा हो गया है। अधिकांश कारोबारी आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए इन दिनों प्रापर्टी डीलिंग का काम कर रहे हैं, लेकिन इस कारोबार से भी उन्हें निराशा ही मिल रही है। आलम यह है कि पछुवादून के करीब एक दर्जन घर बैठे स्पोर्ट्स कारोबारियों को यह चिंता सता रही है कि कब हालात काबू में आएंगे और उनका व्यापार शुरु होगा। पछुवादून के कारोबारियों का कहना है कि कुछ समय बाद कोरोना तो हार जाएगा, लेकिन स्पोर्ट्स कारोबार को पटरी पर लाना मुश्किल होगा। खेल कारोबारियों के अनुसार बड़े उद्योगपति तो अपनी स्थिति कुछ हद तक संभाल लेंगे, लेकिन इस व्यवसाय से जुड़े छोटे कारोबारियों को फिर से धंधा शुरु करने में काफी कठिनाई आएगी।

----

शिक्षण संस्थानों के बंद होने से पड़ा असर

पछुवादून, जौनसार बावर में छह सौ के करीब सरकारी और गैर सरकारी शिक्षण संस्थान हैं। इन संस्थानों से यहां के खेल कारोबारियों को हर नए शिक्षा सत्र में खेल संबंधी सामग्री के बड़े ऑर्डर मिलते हैं। विकासनगर के खेलों से जुड़े कारोबारी नीरज ठाकुर, मिक्की बजाज ने बताया कि स्कूल खुलने पर हर साल पांच से छह लाख तक का ऑर्डर मिलता था, लेकिन पिछले साल से ही यह ऑर्डर मिलना बंद हो गया है। ऐसे में उन्हें बड़ा नुकसान हुआ है।

-----

सोशल डिस्टेंसिंग के चलते खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन बंद

जौनसार बावर और पछुवादून में बड़े पैमाने पर हर साल खेल प्रतियोगिताएं आयोजित होती हैं। ऐसे में इन प्रतियोगिताओं से संबंधित सामान यहीं के स्पोर्ट्स कारोबारियों से खरीदा जाता है। लेकिन कोरोना संक्रमण के कारण लागू हुए सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों के चलते पिछले साल मार्च से ही खेल प्रतियोगिताएं नहीं हो रही हैं। कारोबारी नवीन बजाज, रमेश अग्रवाल ने बताया कि मार्च से जून के माह तक गांवों में कई प्रतियोगिताएं आयोजित होती थी, जिससे उनका एक से डेढ़ लाख तक का कारोबार होता था। पिछले साल से क्रीड़ा प्रतियोगिताएं बंद होने के कारण नुकसान हो रहा है।

-----

माली हालत सुधारने को किया प्रापर्टी का कारोबार

स्पोर्ट्स कारोबारी संदेश कुमार, हरबर्टपुर के प्रवेश गोयल ने बताया कि माली हालत को सुधारने के लिए उन्होंने पिछले साल अनलॉक प्रक्रिया के दौरान प्रापर्टी का कारोबार शुरु किया था, लेकिन लोगों की क्रय शक्ति कम होने के कारण इस व्यापार में भी निराशा ही हाथ लगी। प्रापर्टी के कारोबार में जो जमा पूंजी लगाई थी, वह भी वसूल नहीं हुई।

---

कारोबार को संभलने में लगेगा लंबा समय

पछुवादून के स्पोर्ट्स कारोबारी नीरज ठाकुर, अश्वनी गुप्ता, सुरेश गोयल ने बताया कि संक्रमण का प्रसार कम होने के बावजूद अभी सामूहिक गतिविधियों पर लंबे समय तक रोक रहेगी। शिक्षण संस्थानों में भी सामूहिक खेलों का आयोजन होना अभी संभव नहीं है। ऐसे में स्पोर्ट्स से जुड़े कारोबार को संभलने में अभी लंबा वक्त लगेगा।

संबंधित खबरें