ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंड विकासनगरनिरंतर अभ्यास से होता है कौशल विकास: प्रो. सेमवाल

निरंतर अभ्यास से होता है कौशल विकास: प्रो. सेमवाल

वीर शहीद केसरी चंद राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय डाकपत्थर में बीएड संकाय के छात्र-छात्राओं के लिए व्यावसायिक दक्षता पर आधारित छह दिवसीय कार्यशाला...

निरंतर अभ्यास से होता है कौशल विकास: प्रो. सेमवाल
हिन्दुस्तान टीम,विकासनगरTue, 14 May 2024 07:15 PM
ऐप पर पढ़ें

विकासनगर, संवाददाता।
वीर शहीद केसरी चंद राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय डाकपत्थर में बीएड संकाय के छात्र-छात्राओं के लिए व्यावसायिक दक्षता पर आधारित छह दिवसीय कार्यशाला आयोजित की जा रही है। नंदी फाउंडेशन की ओर से आयोजित कार्यशाला के दूसरे दिन मंगलवार को प्राचार्य ने कहा कि कौशल का विकास प्रशिक्षण और निरंतर अभ्यास से होता है।

प्राचार्य प्रो. जीआर सेमवाल ने कहा कि आज का युग कौशल एवं कुशलता का है। कोई बिना कौशल के भविष्य के उज्जवल होने की इच्छा रखता है तो यह संभव नहीं है। विभागाध्यक्ष डॉ. रुचि बहुखंडी ने कहा कि व्यावसायिक प्रशिक्षण आज के समय में बहुत महत्वपूर्ण बनता जा रहा है। इसका एक कारण बढ़ती जा रही आपसी प्रतिस्पर्धा भी है। हर व्यक्ति स्वयं को दूसरे व्यक्ति से बेहतर साबित करना चाहता है। नंदी फाउंडेशन के प्रशिक्षक हर्षवर्धन सैनी ने छात्रों को एक आदर्श शिक्षक के गुण बताए। कहा कि शिक्षित व्यक्ति और प्रशिक्षित व्यक्ति में अंतर उसके कार्य करने के तरीके और निपुणता से आता है। प्रशिक्षित व्यक्ति आत्मविश्वास के साथ खुद को और अपने विचारों को प्रभावशाली ढंग से व्यक्त करता है। बताया कि जीवन में भीड़ का हिस्सा बन जाना बहुत सरल होता है, लेकिन भीड़ से हटकर खुद को भिन्न रखना स्वयं में एक बहुत बड़ा संघर्ष है। ऐसे व्यक्ति समस्या पर ध्यान देने की बजाय समस्या के समाधान पर विचार करते हैं। मौके पर डॉ. कविता बडोला, डॉ. दीप्ति बगवाड़ी, प्रिंसी कर्णवाल, विमल डबराल, अनिता पंवार, विरेंद्र भाटी आदि मौजूद रहे।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें