DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शीशमबाड़ा आंदोलन को विधायक का समर्थन

शीशमबाड़ा ट्रीटमेंट प्लांट के खिलाफ पछुवादून जन कल्याण संगठन ने अपना आंदोलन जारी रखा हुआ है। संगठन ने धरना प्रदर्शन जारी रखने के साथ ही सुबह नौ बजे देहरादून से पहुंचने वाले कूड़े के वाहनों को प्लांट में नहीं घुसने दिया। सहसपुर विधायक सहदेव सिंह पुंडीर ने पहुंचकर संगठन के कार्यकर्ताओं के साथ धरने पर बैठे। कहा कि पछुवादून जन कल्याण संगठन की इस मुहिम में आंदोलन को उनका पूर्ण समर्थन है।शीशमबाड़ा ट्रीटमेंट प्लांट के खिलाफ पछुवादून जन कल्याण संगठन ने शासन, प्रशासन और रैम्कों कंपनी के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। प्रदर्शनकारियों ने सोमवार सुबह नौ बजे से शीशमबाड़ा प्लांट में कूड़े के वाहनों को नहीं घुसने दिया। संगठन ने कहा कि रैम्को कंपनी प्लांट से निकलने वाली दुर्गंध को रोकने में पूरी तरह से विफल रही है। कहा कि लगातार प्लांट से दुर्गंध निकल रही है। ऐसे में तमाम वायदों के बावजूद अब तक प्लांट में कोई सुधार नहीं हो पाया है। प्लांट में कमियां ही कमियां हैं। जिन्हें दूर करने के कोई प्रयास नहीं किये जा रहे हैं। ऐसे में अब प्लांट में कूड़े के वाहनों को नहीं घुसने दिया जाएगा। इस दौरान विधायक सहसपुर भी धरना स्थल पर पहुंच गये। कहा कि उन्होने प्लांट के उद्घाटन के दौरान ही मुख्यमंत्री के सामने अपना विरोध जता दिया था। कहा कि प्लांट की कमियां यदि पूरी नहीं की जाती हैं तो प्लांट को बंद कर देना चाहिए। कहा कि सरकार, प्रशासन, नगर निगम और रैम्को कंपनी की जिम्मेदारी बनती है कि किसी भी कीमत पर प्लांट से निकलने वाली दुर्गंध को रोके और जनता को उसका जीने का अधिकार सुरक्षित रखे। प्रदर्शनकारियों में रविंद्र भट्ट, पारस थापा, रमेश चंद्र बमराड़ा, भगत सिंह राठौर, अनिल नौटियाल, मनोज पंवार, शराफत अली, बीना बमराड़ा, सुनीता खंतवाल, आशा कंडारी, राहुल कुकरेती, जितेंद्र कुमार गुप्ता, सुलोचना, शशी भट्ट, नारायण थापा, जगदीश पाल, सुनीता सकलानी आदि शामिल रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sheshamabara movement support the legislator