DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शराब की दुकान के विरोध में धरना

शराब की दुकान के विरोध में धरना

लक्ष्मीपुर चौक पर अंग्रेजी शराब की दुकान के खिलाफ महिला संघर्ष समिति का आंदोलन दो माह पूरे होने को हैं। लेकिन अब तक प्रशासन ने दुकान को अन्यत्र शिफ्ट नहीं किया। जिससे महिला संघर्ष समिति में आक्रोश व्याप्त है। महिलाओं ने धरना प्रदर्शन जारी रखते हुए प्रशासन व आबकारी विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।दो मई को लक्ष्मीपुर में शराब की दुकान खुलने के खिलाफ स्थानीय महिलाओं ने आंदोलन शुरु किया। उसके बाद से आंदोलन लगातार जारी है। महिलाओं का कहना है कि शराब की दुकान अन्य स्थान के लिए स्वीकृत की गयी थी। लेकिन आबकारी विभाग व तहसील प्रशासन की मिली भगत से शराब की दुकान को स्वीकृत स्थान के बजाय लक्ष्मीपुर चौक पर खोला गया है। जिसके चलते उन्हे विरोध प्रदर्शन करना पड़ रहा है। कहा कि एक तरफ सरकार व प्रशासन नशे के खिलाफ जागरुकता अभियान चला रहा है दूसरी ओर गांव गांव में शराब की दुकान खोलकर लोगों के घरों तक शराब परोशने का काम सरकार कर रही है। कहा कि सरकार व प्रशासन उनके आंदोलन की चाहे जितने अनदेखी करे। लेकिन जब तक शराब की दुकान नहीं हटती तब तक वे अपना आंदोलन जारी रखेंगी। कहा कि शराब की दुकान को लक्ष्मीपुर चौक से हटाकर ही वे चैन की सांस लेंगी। प्रदर्शनकारी महिलाओं में उक्रांद के ब्लॉक अध्यक्ष दिगंबर भंडारी, ग्राम प्रधान रीना डोगरा, भारती राणा, शांति रावत, रोशनी गुलेरिया, रोशनी राठौर, सविता थापा, सुनीता थापा, कांता गुरुंग, अनिता लामा, कमला देवी, रूपा गुरुंग, रूपाराना, सुमित्रा, कोशल्या, शिक्षा, पूनम थापा, प्रेमो देवी, कस्तुरी आदि शामिल रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Protest against liquor shop