DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टौंस और यमुना का जलस्तर घटने से बिजली उत्पादन शुरू

टौंस और यमुना नदी का जल स्तर काफी कम हो गया है। दोनों नदियों का जल स्तर घटकर एक चौथाई रह गया है। जिससे जौनसार बावर से लेकर विकासनगर तक नदी के आसपास बसे गांवों के लोगों पर मंडरा रहा खतरा कम हुआ है। वहीं यूजेवीएनएल ने भी राहत की सांस ली है। जल स्तर घटने और सिल्ट की मात्रा कम होने के बाद यूजेवीएनएल की पांचों जल विद्युत परियोजनाओं से बिजली उत्पादन शुरू हो गया है। शनिवार की टौंस और यमुना का जलस्तर बढ़कर पौने दो लाख क्यूसेक तक पहुंच गया था। जिससे टौंस नदी के किनारे बसे त्यूणी से लेकर विकासनगर तक यमुना नदी के किनारे बसे गांवों के लोगों के लिए खतरा पैदा हो गया था। तब यूजेवीएनएल को भी अपनी पांचों बिजली परियोजनाओं छिबरों, खोदरी, ढकरानी, ढालीपुर, कुल्हाल परियोजनाओं से बिजली उत्पादन बंद करना पड़ा। यूजेवीएनएल को डाकपत्थर बैराज से पानी को शक्ति नहर के बजाय नदी में छोड़ना पड़ा। रविवार को भी जलस्तर कम नहीं हो पाया। जिसके चलते जल विद्युत परियोजनाओं से उत्पादन शुरू नहीं हो पाया। सोमवार सुबह तक यमुना और टौंस का जलस्तर घटकर तीस हजार क्यूसेक हो गया है। जिसके बाद सोमवार सुबह साढ़े सात बजे से ढकरानी, ढालीपुर, कुल्हाल और 8: 50 बजे से छिबरों और खोदरी जल विद्युत परियोजनाओं से बिजली उत्पादन का काम शुरु कर दिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Power generation starts by falling water level of tones and Yamuna