DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेलाकुई में मानदेय के लिए श्रमिकों का प्रदर्शन

सेलाकुई में मानदेय के लिए श्रमिकों का प्रदर्शन

1 / 2औद्योगिक सेलाकुई क्षेत्र स्थित एक कंपनी में श्रमिकों को दो माह से वेतन नहीं मिला। वेतन न मिलने से गुस्साये श्रमिकों का गुस्सा कंपनी पर फूट पड़ा। कंपनी के श्रमिकों ने कंपनी का कार्य वहिष्कार कर कंपनी...

सेलाकुई में मानदेय के लिए श्रमिकों का प्रदर्शन

2 / 2औद्योगिक सेलाकुई क्षेत्र स्थित एक कंपनी में श्रमिकों को दो माह से वेतन नहीं मिला। वेतन न मिलने से गुस्साये श्रमिकों का गुस्सा कंपनी पर फूट पड़ा। कंपनी के श्रमिकों ने कंपनी का कार्य वहिष्कार कर कंपनी...

PreviousNext

औद्योगिक क्षेत्र सेलाकुई स्थित एक कंपनी में श्रमिकों को दो माह से वेतन नहीं मिला। वेतन न मिलने से गुस्साये श्रमिकों ने कार्य वहिष्कार कर कंपनी के गेट पर धरना देकर कंपनी के खिलाफ प्रदर्शन किया। श्रमिकों ने कंपनी प्रबंधन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। श्रमिकों ने इस मामले में एक तहरीर कंपनी प्रबंधन के खिलाफ सेलाकुई पुलिस को दी। मौके पर पहुंचे सेलाकुई चौकी इंचार्ज ने कंपनी प्रबंधन और श्रमिकों के मध्य समझौता कराया। जिस पर कंपनी प्रबंधन ने दस अगस्त तक श्रमिकों के वेतन का भुगतान करने का आश्वासन दिया।औद्योगिक क्षेत्र सेलाकुई स्थित कोर फैशन कंपनी ने दो माह से कंपनी में कार्यरत श्रमिकों को वेतन का भुगतान नहीं किया। जिससे गुस्सायें श्रमिकों ने कंपनी में कार्य वहिष्कार कर कंपनी के बाहर गेट पर धरना देकर प्रदर्शन किया। कंपनी के श्रमिकों ने कहा कि दो माह से वेतन न मिलने के कारण उनके सामने गंभीर संकट खड़ा हो गया। कहा कि लगातार कंपनी प्रबंधन से वेतन भुगतान करने की मांग करते रहे हैं। लेकिन कंपनी प्रबंधन बार-बार टाल मटोल कर रहे हैं। लगातार श्रमिकों से काम तो लिया जा रहा है। लेकिन उनका वेतन भुगतान नहीं किया जा रहा है। इस दौरान कांग्रेस नेता नीरज तिवारी भी मौके पर पहुंचे और श्रमिकों के आंदोलन को अपना समर्थन दिया। श्रमिकों ने सेलाकुई पुलिस चौकी में भी वेतन भुगतान न किये जाने पर कंपनी प्रबंधन के खिलाफ तहरीर दी। तहरीर में श्रमिकों ने कहा कि कंपनी प्रबंधन ने दो माह से वेतन नहीं दी। बार- बार टाल मटोल करने के साथ ही उन्हे धमकियां दी जा रही हैं। कहा कि दूसरे प्रदेश से आकर वह कंपनी में अपने दायित्वों का निर्वहन कर रहे हैं। लेकिन उनकों उनके कार्य का मानदेय नहीं दिया जा रहा है। जिस पर सेलाकुई चौकी इंचार्ज नवनीत भंडारी ने कंपनी पहुंचकर कंपनी के मालिक और श्रमिकों के बीच समझौता वार्ता करायी। जिस पर कंपनी के मालिक धर्मेंश कुमार ने दस अगस्त तक एक माह का भुगतान श्रमिकों को देने का आश्वासन दिया। जिसके बाद श्रमिक शांत हुए। प्रदर्शनकारी श्रमिकों में विनीत कुमार, गोमती देवी, पूजा राठौर, नीतू, छुमा, अन्कुम मिश्रा, नशम देवी, फरीन, शालू, नेहा, तानियां, शहनाज, गुलशना, तयबा, अफरीन, शाहिस्ता, सोनम, हीराकली, नजरीन, रिंकी देवी, हिना, अफसाना, कोमल, जुबेद, संजय कुमार मुकेश आदि शामिल रहे। उधर कुछ श्रमिकों ने कहा कि समझौते से वे खुश नहीं हैं। कहा कि कंपनी मालिक लगातार श्रमिकों का शोषण करते हैं। कहा कि इस मामले में जल्द एसएसपी देहरादून और श्रमआयुक्त से कपंनी की शिकायत करेंगे। प्रदर्शन के दौरान महिला हुई बेहोश प्रदर्शन के दौरान एक श्रमिक महिला अचानक बेहोश हो गयी। जिसे काफी देर बाद होश में लाया जा सका। इस दौरान महिला आंदोलन स्थल पर ही पड़ी रही।ट्रक हड़ताल से हुई परेशानी उधर, कंपनी के मालिक धर्मेंश कुमार ने बताया कि पिछले आठ दिनों तक ट्रकों की हड़ताल के चलते कंपनी का सामान न तो निर्यात हो पाया और नहीं कंपनी में आने वाला कच्चा माल आयात हो सका। जिससे कंपनी के सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया था। कहा कि अब हड़ताल खुल गयी है। सामान आयात निर्यात होने लगा है तो श्रमिकों को भुगतान भी किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Performance of workers for honorarium in Selakui