DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तराखंड  ›  विकासनगर  ›  जर्मन राजदूत ने गंगा आरती कर स्वच्छता की कामना की
रिषिकेष

जर्मन राजदूत ने गंगा आरती कर स्वच्छता की कामना की

हिन्दुस्तान टीम,रिषिकेषPublished By: Newswrap
Thu, 31 Aug 2017 07:13 PM
जर्मन राजदूत ने गंगा आरती कर स्वच्छता की कामना की

त्रिवेणी घाट पर नमामि गंगे अभियान के तहत आयोजित हुआ कार्यक्रम ऋषिकेश। हमारे संवाददातानमामि गंगे अभियान के तहत आयोजित कार्यक्रम में जर्मन राजदूत मार्टिन नै ने गंगा आरती कर स्वच्छता की कामना की। मौके पर विधानसभा अध्यक्ष ने जर्मन राजदूत को गंगाजली और रुद्राक्ष देकर स्वागत किया। गुरुवार को नमामि गंगा अभियान के तहत त्रिवेणी घाट पर कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में जर्मन राजदूत डा. मार्टिन नै ने मां गंगा आरती में पूजा अर्चना की। उन्होंने कहा कि देश को आगे बढ़ाने के लिए देश का स्वस्थ्य रहना जरूरी है और स्वस्थ्य रहने के लिए देश को स्वच्छ बनाना अत्यधिक आवश्यक है। गंगा भारत देश की सबसे बड़ी नदी है और ऐसे में गंगा को स्वच्छ बनाए रखना प्रत्येक नागरिक का दायित्व है। इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने जर्मन राजदूत डा. मार्टिन नै और उनके साथ आए प्रतिनिधिमंडल का गंगाजली और रुद्राक्ष की माला पहनाकर स्वागत किया। मौके पर जर्मन राजदूत व अन्य लोगों ने गंगा की स्वच्छता पर आधारित संकल्प पत्र पर संयुक्त रूप से हस्ताक्षर भी किये।गंगा आरती के पश्चात जर्मन राजदूत श्रीपूर्णानन्द इण्टर कॉलेज में इण्डो-जर्मन डवलप्मेन्ट कॉरपोरेशन सपोर्ट टू गंगा रिजोवेशन के तत्वाधान में आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे। विद्यालय में गंगा की स्वच्छता पर आधारित छात्र-छात्राओं द्वारा तैयार की गई चित्रकला प्रदर्शनी का उदघाटन किया। उन्होंने बताया कि जर्मनी में राईन नदी भी गंगा की तरह ही पवित्र है। इस नदी में भी अत्यधिक प्रदूषण हो गया था। परन्तु जर्मन सरकार ने विगत कई वर्ष पूर्व जर्मन तकनीक के माध्यम से राईन नदी को स्वच्छ करके दिखाया है।विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा है कि गंगा की स्वच्छता के लिए जर्मनीकी तकनीक को भारत सरकार ने भी स्वीकार किया है, और नमामि गंगे के तहतआज तकनीकी रूप से गंगा की स्वच्छता को लेकर जर्मनी का यह प्रतिनिधि मण्डलऋषिकेश आया है। इस अवसर पर जर्मनी के राजदूत डॉ मार्टिन नै कीपत्नी डॉ गैब्रियल नै, मिस मार्टिना बुकार्ड, मिस एनेट, मिस तान्याफल्डिमैन, अपर सचिव पेयजल एवं परियोजन निदेशक डॉ राघव लंगर, डी.एफ.ओ.रहुल कुमार, रेंजर स्पर्श काला, अनिरू़द्ध कुमार, उत्तम सिंह नेगी आदि लोग उपस्थित थे।

संबंधित खबरें