DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तराखंड  ›  विकासनगर  ›  सौरभ हत्याकांड का मुख्य आरोपी गिरफ्तार, जेल भेजा
विकासनगर

सौरभ हत्याकांड का मुख्य आरोपी गिरफ्तार, जेल भेजा

हिन्दुस्तान टीम,विकासनगरPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 05:10 PM
सौरभ हत्याकांड का मुख्य आरोपी गिरफ्तार, जेल भेजा

कोतवाली विकासनगर पुलिस ने सौरभ उर्फ सागर हत्याकांडके मामले में फरार चल रहे मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी हत्या के बाद यूपी के गाजियाबाद में छुपा हुआ था। आरोपी को पुलिस ने कोर्ट में पेश किया। जहां से आरोपी को जेल भेज दिया है।

विकासनगर कोतवाली क्षेत्रांतर्गत 12 जून की रात को उदियाबाग गेट के चौकीदार ने पुलिस को गुडरिच टीस्टेट में एक शव होने की सूचना दी थी। युवक की नृशंस हत्या की गई थी। मृतक की शिनाख्त सौरभ उर्फ सागर पुत्र राजकुमार निवासी लक्ष्मीपुर थाना सहसपुर के रूप में हुई थी। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की।पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा कर 13 जून को कंचन पुत्र खालिद निवासी तारकपुर लालबाग थाना बोरपुर जिला मुर्शिदाबाद पश्चिम बंगाल हाल निवासी उदियाबाग को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था जबकि हत्याकांड का मुख्य आरोपी कंचन का बड़ा भाई कमरेज पुत्र खालिद फरार था। तब से वह आरोपी पुलिस की आंख में धूल झोंककर उत्तराखंड से बाहर यूपी के गाजियाबाद में छुप गया था। तभी से पुलिस आरोपी को तलाश रही थी। बुधवार देर रात को पुलिस ने आरोपी कमरेज को खोड़ा गाजियाबाद यूपी से गिरफ्तार कर लिया। आरोपी को पुलिस गिरफ्तार कर विकासनगर लेकर आई और पूछताछ की। सीओ वीडी उनियाल ने बताया कि आरोपी को कोर्ट में पेश किया गया। जहां से आरोपी को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया है। हत्या के दिन पहने हुए खून से सने आरोपी के कपड़े पुलिस ने बरामद किए हैं।

-----

बॉक्स।

शराब पीकर पत्नी पर की अभद्र टिप्पणी

आरोपी कमरेज ने बताया कि अपने भाई कंचन, पत्नी व मां के साथ उदियाबाग में रहता है। मृतक सौरभ उर्फ सागर की उसके भाई कंचन से कुछ दिन पूर्व दोस्ती हुई। 12 जून की दिन में सौरभ उसके कमरे पर शराब लेकर आया। जो उसने मिलकर उसके भाई के साथ पी। रात दस बजे वह फिर शराब लेकर आया। जिसे पीने वह, उसका भाई कंचन व सौरभ उर्फ सागर बाइक में बैठकर टी स्टेट गये। जहां शराब पीने के दौरान सौरभ ने उसकी पत्नी को लेकर अभद्र टिप्पणी की। जिस पर उन्होने पहले लात घूंसों से उसकी पिटाई की और बाद में गला घोंटकर हत्या कर दी।

-------

बॉक्स।

बस में बैठकर भागा था कमरेज

कमरेज ने बताया कि हत्या के बाद वह लाश को ठिकाने लगा रहे थे। लेकिन तब तक चौकीदार की टार्च की लाइट उन पर पड़ने लगी। जिसे देखकर दोनों भाई अलग अलग दिशा में भाग गये। बताया कि हरबर्टपुर से बस में बैठकर वह आईएसबीटी पहुंचा। जहां किसी से लिफ्ट लेकर सहारनपुर व वहां से बस में बैठकर सीधा खोड़ा कालोनी गाजियाबाद पहुंच गया। पूछताछ में पता चला कि कमरेज पहले खेड़ा गाजियाबाद में बंगाली बस्ती में रहता था। जिसके बाद पुलिस की टीम फोटो लेकर गाजियाबाद पहुंची और आरोपी को गिरफ्तार कर ले आयी।

संबंधित खबरें