DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आंधी-तूफान से बागवानों को भारी नुकसान

आंधी-तूफान से बागवानों को भारी नुकसान

सोमवार देर रात क्षेत्र में चले आंधी-तूफान ने बागवानों की कमर तोड़ दी। भीषण आंधी ने सेब, नाशपाती, खुमानी, आडू, आलू बुखारा आदि नगदी फसलों को बर्बाद कर दिया। बागवानों ने तहसील प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है। सोमवार शाम बरसात के बाद मौसम खुल गया था, लेकिन मध्यरात्रि अचानक मौसम ने करवट बदल ली। इसके बाद भीषण आंधी तूफान शुरू हो गया। आंधी ने चकराता सहित आसपास के इलाकों में भारी नुकसान किया। कई घरों की खिड़कियों के कांच तक टूट गए। कई लोगों के कच्चे घरों की छत आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हो गई। आंधी तूफान ने सबसे ज्यादा कहर नगदी फसलों पर बरपाया। सेब के साथ नाशपाती, फूलम, खुमानी, आडू आदि बागवानी को तूफान ने बर्बाद कर दिया। बागवान बिशन दत्त शर्मा, अर्जुन देव, मनमोहन सिंह, दिगम्बर सिंह, दिनेश, कृपा सिंह आदि ने बताया कि देर रात चले आंधी तूफान ने फसलों को बर्बाद कर दिया है। बहुत अधिक छोटे और कच्चे फल पेड़ों से झड़ गये हैं। इससे इस बार हुए अच्छे उत्पादन की सारी उम्मीदें टूट गई हैं। उन्होंने प्रशासन को इसकी जानकारी देकर मदद की गुहार लगाई है। इस संबंध में तहसीलदार केएस नेगी ने बताया कि क्षेत्रीय पटवारियों से रिपोर्ट मांगी गई है। नुकसान का आकलन कर नियमानुसार मुआवजा दिया जाएगा। त्यूणी क्षेत्र में भी हुआ नुकसान..त्यूणी। सोमवार देर रात आंधी तूफान ने त्यूणी तहसील क्षेत्र में भी खासा नुकसान पहुंचाया। डूंगरी गांव में आंधी तूफान के चलते सेब, नाशपाती आदि नगदी फसलें बर्बाद हो गई। बागवान मातबर सिंह, फतेह सिंह, सरदार सिंह, सब्बल सिंह, रामानंद, धुम सिंह, रामानंद, महेन्द्र आदि ने बताया कि तूफान ने बागवानी को नुकसान पहुंचाया है। नगदी फसलें चौपट होने से उनके सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है। उन्होंने तहसील प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Heavy losses to gardens by storm