Drinking water crisis in Chilhar village for three days - त्यूणी के चिल्हाड़ गांव में पेयजल संकट DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

त्यूणी के चिल्हाड़ गांव में पेयजल संकट

default image

त्यूणी। हमारे संवाददातातहसील के अंर्तगत चिल्हाड़ गांव में तीन दिनों से पेयजल संकट गहराया हुआ है। पेयजल लाइन क्षतिग्रस्त होने से ग्रामीण बूंद-बूंद पानी को तरस रहे हैं। उन्होंने जल संस्थान से जल्द गांव में जलापूर्ति सुचारू कराने की मांग की है। चिल्हाड़ गांव में ढांगखड्ड चिल्हाड़ पेयजल योजना से पेयजल सप्लाई होती है। लेकिन, क्षेत्र में आई आपदा के चलते लाइन जगह-जगह से क्षतिग्रस्त होने के कारण गांव में तीन दिनों से जलापूर्ति ठप है। ग्रामीण पीताम्बर बिजल्वाण, दौलतराम, लक्ष्मीराम, चतर सिंह, जयराम, जयपाल, सुभाष, सौरभ, नरेन्द्र, पंकज आदि ने बताया कि तीन दिनों से ग्रामीण पानी को तरस रहे हैं। उन्हें करीब एक किमी दूर स्थित पेयजल लाइन से आपूर्ति करनी पड़ रही है। जबकि, इस सम्बंध में कई बार विभागीय अधिकारियों से शिकायत की जा चुकी है। बताया कि क्षतिग्रस्त लाइन को ग्रामीणों ने खुद ठीक करने के प्रयास भी किये। लेकिन, लाइन से मलबा हटाने के बाद भी गांव में आपूर्ति सुचारू नहीं हो सकी। जिससे ग्रामीण परेशान हैं। उन्होंने विभाग से जल्द लाइन को ठीक कर आपूर्ति सुचारू कराने की मांग की है। संस्थान के अधिशासी अभियंता मनमीत रमोला ने बताया कि चिल्हाड़ पेयजल लाइन ग्राम पंचायत के अधीन है। इसकी मरम्मत का जिम्मा ग्राम पंचायत का है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Drinking water crisis in Chilhar village for three days