DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

11 घंटे बाद खुला चकराता-कालसी मोटर मार्ग

11 घंटे बाद खुला चकराता-कालसी मोटर मार्ग

जौनसार बावर क्षेत्र की लाइफ लाइन कालसी चकराता मोटर मार्ग के बंद होने का सिलसिला शनिवार रात भी जारी रहा। रात 10 बजे जजरेट में आए भारी मलबे ने मार्ग पर यातायात का पहीया थाम दिया। इससे कई चालकों को पूरी रात गाड़ियों में ही गुजारनी पड़ी। फसलें भी समय पर मंडियों में नहीं पहुंच सकी। जिससे किसानों को भी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा। सोमवार सुबह 9 बजे लोनिवि की जेसीबी ने मलबा हटाकर यातायात सुचारु कराया। जौनसार बावर क्षेत्र के तमाम रूटों में कालसी चकराता मोटर मार्ग यहां का प्रमुख मार्ग है। इस पर क्षेत्र के हजारों लोगों के साथ पर्यटक भी सफर करते हैं। लेकिन, बारिश के दौरान मार्ग पर जजरेट की पहाड़ी नासूर बन जाती है। हल्की बारिश के दौरान भी पहाड़ी से मलबा आने के कारण आए रोज मार्ग पर यातायात बंद हो जाता है। शनिवार देर रात भी बारिश के चलते जजरेट में पहाड़ी दरकने से भारी मलबा आ गया। जिससे सड़क पर वाहनों की रफ्तार पूरी तरह से थम गई। सुबह 9 बजे तक जजरेट के पास पहाड़ी से पत्थरों और मलबा के लुढ़कने का सिलसिला जारी रहा। मलबा गिरने की रफ्तार थमने के बाद सुबह लोनिवि ने जेसीबी लगाकर मलबा हटवाया। जिसके बाद मार्ग पर यातायात सुचारु हो सका। मलबा आने से सड़क के दोनों ओर करीब एक किमी लंबी गाड़ियों की लाइनें लगी रही। कुछ लोग कालसी-बैराटखाई और हरिपुर-क्वानू होते हुए भी अपने गणतव्यों तक पहुंचे। हालांकि, किसानों की नगदी फसलों से भरी कई गाड़ियां सुबह तक जजरेट में ही फंसी रही।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Chalarata Kalsi Motorway Open after 11 hours