DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सात जून तक प्रवास पर रहेंगे बाशिक महासू देवता

त्यूणी। हमारे संवाददाताजौनसार बावर क्षेत्र के आराध्य कुल देवता बाशिक महाराज सात जून तक प्रवास पर हैं। शुक्रवार से गांव-गांव में देव पालकी की पूजा अर्चना का दौर चल रहा है। सात जून को देव पालकी महासू मंदिर हनोल पहुचेगी। मैंद्रथ गांव स्थित मंदिर में विराजमान बाशिक महासू देवता शुक्रवार से प्रवास पर निकले हैं। देवता की पालकी 6 जून तक मन्नतें पूरी होने वाले लोगों के घरों पर रात्रि प्रवास करेगी। इसके बाद सात जून को देव पालकी हनोल महासू देवता मंदिर पहुंचेगी। देव वजीर दीवान सिंह राणा ने बताया कि क्षेत्रवासियों की आस्था के प्रतीक बाशिक महासू देव सात जून तक प्रवास पर रहेंगे। इसके बाद ही वो अपने मूल मंदिर मैंद्रथ में प्रवेश करेंगे। बताया कि दो से चार जून तक देवता देव स्थल केवाड़ा में विराजमान रहेंगे। जहां, तीन दिवसीय जखोली मेले का आयोजन होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Baschash Mahasu Deity will stay on migration until June 7