DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिक्षकों की कमी से जूझ रहे राइंका बनचौरा के छात्र

चिन्यालीसौड़ ब्लॉक के राजकीय इंटर कॅालेज बनचौरा में छह प्रवक्ताओं तथा एलटी संवर्ग के तीन शिक्षकों के पद सालों से रिक्त चल रहे हैं। जिस पर अभिभावक शिक्षक संघ ने नाराजगी व्यक्त कर सरकार पर छात्र-छात्राओं के भविष्य से खिलवाड़ करने का आरोप लगाया है। वहीं अभिभावक संघ ने चेतावनी दी कि यदि उनकी मांगों का शीघ्र निस्तारण नहीं किया गया तो वह दस अगस्त को विद्यालय में तालाबंदी करेंगे। सोमवार को चिन्यालीसौड़ ब्लॉक के राइंका बनचौरा में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं के अभिभावक जिला मुख्यालय पहुंचे। जहां उन्होंने जिलाधिकारी से मुलाकात की और अपनी समस्याओं को रखा। जिसमें उन्होंने बताया कि सरकार ने राइंका बनचौरा को कागजों में आदर्श विद्यालय तो बना दिया। लेकिन शिक्षक भेजना भूल गई। उन्होंने कहा कि विद्यालय में वर्तमान समय में 450 छात्र-छात्रायें अध्यनरत हैं। लेकिन उनको पढ़ाने के लिए विद्यालय में मूल विषय के शिक्षक तक नहीं है। जिससे छात्र-छात्रओं का भविष्य अधर में लटक गया है। कहा कि विद्यालय में प्रवक्ता के 10 पद स्वीकृत हैं। लेकिन इनमें अंग्रेजी, रसायन विज्ञान, गणित, अर्थशास्त्र, राजनीतिक विज्ञान, भूगोल के शिक्षकों के पद रिक्त हैं। वहीं दूसरी ओर एलटी संवर्ग में भी 10 पदों में से तीन पद रिक्त पड़े हैं। जिसमें अंग्रेजी, गणित, तथा हिन्दी के अध्यापक नहीं है। जिस कारण छात्र-छात्राओं को संपूर्ण विषय का ज्ञान नहीं मिल पा रहा है। उन्होंने जिलाधिकारी को ज्ञापन प्रेषित किया और शीघ्र शिक्षकों की नियुक्ति की मांग की। वहीं चेतावनी दी कि यदि दस अगस्त तक शिक्षकों की नियुक्ति नहीं की गई तो वह विद्यालय में तालाबंदी सहित उग्र आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे। इस मौके पर राजेन्द्र रांगड़, दिनेश, जयवीर, विजय प्रकाश, चंदन सिंह, मुरलीधर, विरेन्द्र सिंह आदि अभिभावक मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Students of Rinka Banchaura fighting for lack of teachers