DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

धार्मिक संस्कृति संस्कारों की पाठशाला हैं शिशु मंदिर - गोपाल

धार्मिक संस्कृति संस्कारों की पाठशाला हैं शिशु मंदिर - गोपाल

सरस्वती शिशु मंदिर ज्ञानसू में रविवार को वार्षिकोत्सव का आयोजन किया गया। जिसमें विद्यालय के छात्र- छात्राओं ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों की मनमोहक प्रस्तुतियां देकर तालियां बटोरी। इस मौके पर बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए गंगोत्री विधायक गोपाल सिंह रावत ने कहा कि शिशु मंदिर हमारी धार्मिक संस्कृति संस्कारों की पाठशाला है।नगर पालिका क्षेत्र के वार्ड नम्बर 9 में स्थित सरस्वती शिशु मंदिर ज्ञानसू के वार्षिकोत्सव कार्यक्रम रविवार को विधिवत रूप से संपन्न हो गया। कार्यक्रम का शुभारंभ गंगोत्री विधायक गोपाल सिंह रावत ने दीप प्रज्जवलित कर किया। कार्यक्रम की शुरूआत सरस्वती वंदना के साथ की गई। वहीं इसके बाद विद्यालय के नन्हें मुन्ने छात्रों ने गढ़वाली, रवांई, जौनसारी, देशभक्ति सहित फ़िल्मी गीतों पर नृत्य प्रस्तुत किए। वहीं इस मौके पर मौके पर विभिन्न प्रतियोगिताओं में अव्वल रहे छात्र छात्राओं को पुरस्कार वितरित कर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में जिला पंचायत सदस्य पवन नौटियाल, वनक्षेत्राधिकारी बाड़ाहाट रविंद्र पुंडीर,यूको बैंक के मैनेजर भूपेंद्र सिंह राणा, भाजपा महामंत्री हरीश डंगवाल, प्रधानाचार्य पुलम पंवार,गीताराम पैन्यूली,जय सिंह नेगी,पूरण सिंह रावत, गिरिजा शंकर,चंदन जी, देवीदत्त उप्रेती, धनपाल पंवार, ज्ञानचंद रमोला,श् हरीश सेमवाल,देवराज राणा, देवेंद्र चौहान,बाल शेखर नौटियाल, कमलेश्वरी जोशी,चंद्र वीर राणा, सहित अभिवावक एवं आचार्य मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Shishu Mandir - Gopal is a school of religious culture rituals