DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सड़कें बंद होने से खेतों में मंडी तक नही पहुंच रहे आलू

मोरी तहसील के गोविन्द वन्य जीव विहार पार्क क्षेत्र में निवास करने वाले 22 गांव के ग्रामीणों की नगदी फसल सड़क बंद होने के कारण मंडी तक नहीं पहुंच पा रही है। जिससे काश्तकारों को खासा नुकसान उठाना पड़ रहा है। मोरी क्षेत्र में हो रही नियमित बारिश के चलते स्थानीय लोगों का जनजीवन पूरी तरह अस्त-व्यस्त होकर रह गया है। लगातार हो रही मूसलाधार बारिश के चलते पर्वत क्षेत्र के लिवाडी, राला, कासला, रेकचा, हरिपुर, फिताडी, ओसला, पंवाडी, गंगाड, धारकोट, ढाटमीर, तालुका, हडवाडी, सेवा, मसरी, कलाप, नुराणू, करबा सहित 22 गांव में इन दिनों आलू, लौकी, कद्दू, बीनस, बैंगन,ककड़ी, आडू,आदि नगदी फसलें तैयार है। लेकिन सड़क व पैदल मार्ग बंद होने के कारण वह मंडी तक नही पहुंच पा रही है। स्थानीय काश्तकार उमराव सिंह चौहान, बचन सिंह पंवार, दलबीर सिंह राणा ने बताया कि यदि समय रहते मार्ग दुरुस्त नहीं किए गए तो उनको लाखों का नुकसाना उठाना पड़ेगा। वहीं आजीविका चलाने में परेशानी उठानी पड़ेगी। वहीं दूसरी ओर हरकीदून ट्रेक रूट पर पर स्थित ओसला, पंवाडी, गंगाड, धारकोट, ढाटमीर, तालुका, लिवाडी, राला, कासला, रेकचा, हरिपुर, फिताडी को जोड़ने वाले मोटर मार्ग व पैदल मार्ग क्षतिग्रस्त होने के कारण ग्रामीणों के समक्ष खाद्यान्न संकट गहराता जा रहा है। वहीं पैदल मार्ग क्षतिग्रस्त होने के कारण ग्रामीण जान हथेली पर रखकर अपनी रोजमर्रा की जरूरतों को गांव तक पहुंचा रहे हैं। स्थानीय जिला पंचायत सदस्य रेवती राणा, उमराव सिंह चौहान, बचनसिंह पंवार, बलवीर सिंह राणा, दयाल सिंह राणा, जयमोह सिंह राणा आदि ने बताया की जहां रास्ते बंद होने से दैनिक वस्तुओं की आपूर्ति नहीं हो पा रही है, वहीं नगदी फसलें मंडियों तक न पहुंचने से किसानों को आर्थिक नुकसान हो रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Potato not reaching the mandi in fields due to closure of roads