DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तराखंड  ›  उत्तरकाशी  ›  एनएचएम कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने से मरीज परेशान

उत्तरकाशीएनएचएम कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने से मरीज परेशान

हिन्दुस्तान टीम,उत्तरकाशीPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 03:50 PM
एनएचएम कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने से मरीज परेशान

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत संविदा पर कार्यरत कर्मचारियों ने मांगों का निस्तारण नहीं होने पर मंगलवार को होम आईसोलेशन में रहकर कार्य बहिष्कार किया। इस दौरान सभी कर्मचारियों ने सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया और मांग पूरी नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी।

मंगलवार को जिला मुख्यालय पर राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के समस्त संविदा कर्मचारी होम आईसोलेशन में रहे। इस कारण जिला अस्पताल में मरीजों को भारी परेशानी का समाना करना पड़ा। वहीं दूसरी ओर कर्मचारियों के हड़ताल पर रहने से जिला अस्पताल में टीकाकरण, सैंपलिंग,सहित वॉर रूम के कार्यो, होम आईसोलेशन सहित एनएचएम के अन्य कार्य प्रभावित रहे। इस मौके पर संगठन के जिलाध्यक्ष अमित कोठारी ने कहा कि कर्मचारी वर्ष 2018 से वेतन विसंगति, सेवा नियमावली, एक्स कैडर का गठन व वार्षिक वेतनवृद्धि 5 प्रतिशत से बढ़ाकर 10 प्रतिशत करने की मांग कर रहे है। लेकिन प्रदेश सरकार उनकी मांगों की अनदेखी करने पर लगी है। संगठन के पूर्व अध्यक्ष राम संजीवन नौटियाल ने बताया कि मिशन प्रबंधन एनएचएम ने पूर्व में स्पष्ट किया है कि लॉयलटी बोनस 5 वर्ष की सेवा पूर्ण करने पर 15 एवं 3 वर्ष की सेवा करने पर 10 प्रतिशत दिए जाने का प्रावधन केन्द्र से हुआ है। किंतु उस पर भी कटौती कर 15 प्रतिशत के स्थान पर 6.75 प्रतिशत व 10 प्रतिशत के स्थान पर 4.2 प्रतिशत ही दिए जाने का आदेश जारी किया है। स्जिससे सभी कर्मचारियों में रोष है। कहा कि प्रांतीय कार्यकारिणी के निर्णयानुसार एनएचएम कार्मिक मंगलवार को होम आईसोलेशन में गये हैं। यदि इसके बाद भी सरकार ने उनकी मांगो पर विचार नही किया तो वह उग्र आंदोलन करने को वाध्य होंगे।

इस मौके पर संगठन के पूर्व अध्यक्ष राम संजीवन नौटियाल, सचिव अरविंद बुटोला, कोषाध्यक्ष राकेश चमोली, धर्मेंद्र चौहान, अनिल बिष्ट, जयंती प्रसाद बडोनी, सुदेश पंवार, राकेश उनियाल, मनोज भट्ट, प्रमोद नौटियाल, पवन चंदेल, सीमा अग्रवाल, हरिशंकर, मानेन्द्र नेगी आदि एनएचएम कार्मिक मौजूद रहे।

संबंधित खबरें