DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तराखंड  ›  उत्तरकाशी  ›  ऑनलाई गोष्ठी के माध्यम से दी किसानों को मृदा स्वास्थ्य की जानकारी
उत्तरकाशी

ऑनलाई गोष्ठी के माध्यम से दी किसानों को मृदा स्वास्थ्य की जानकारी

हिन्दुस्तान टीम,उत्तरकाशीPublished By: Newswrap
Fri, 18 Jun 2021 03:10 PM
ऑनलाई गोष्ठी के माध्यम से दी किसानों को मृदा स्वास्थ्य की जानकारी

कृषि विज्ञान केंद्र चिन्यालीसौड़ में भारत का अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत उर्वरकों का संतुलित प्रयोग विषय पर ऑनलाई गोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें जिले भर के किसानों को मृदा स्वास्थ्य एवं उर्वरकों के संतुलित प्रयोग की जनाकारी दी।

शुक्रवार को आयोजित कार्यक्रम का शुभारंभ केंद्र के प्रधान वैज्ञानिक डा.चित्रांगद सिंह राघव द्वारा किसानों को मृदा स्वास्थ्य एवं पोषक तत्वों के महत्व के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी दी। कहा कि मृदा में मुख्य एवं सूक्ष्म पोषक तत्वों के संतुलन को बनाये रखने से ही हमारे खेतों की उत्पादकता बढ़ सकती है। वहीं उद्यान विशेषज्ञ डा. पंकज नौटियाल ने किसानों को ड्रिप फर्टिगेशन के उपयोग के बारे में एवं पौधों के लिए जल की उपलब्धता के विभिन्न तरीकों के बारे में बताया। केंद्र के कृषि प्रसार विशेषज्ञ डा. गौरव पपनै ने जैविक उर्वरक एवं इनकी महत्ता, वर्मी कम्पोस्ट, वर्मी बेड और अन्य महत्वपूर्ण विषयों की जानकारी दी। वरुण सुप्याल द्वारा प्रेजेंटेशन के माध्यम से किसानों को मृदा स्वास्थ्य से जुडी विभिन्न जानकारियों से अवगत कराया। उन्होंने किसानों को मृदा नमूने लेने के तरीके, मृदा परीक्षण करवाने तथा मृदा का पौधों के लिए महत्व आदि विषयों की जानकारी दी। कार्यक्रम में मुख्य उद्यान अधिकारी डा. रजनीश सिंह, डीडीएम नाबार्ड गुरविंदर सिंह अहूजा, रेडक्रास सोसाइटी अध्यक्ष अजय पुरी, प्रगतिशील कृषक जगमोहन राणा, सचिन पंवार, मोहन सिंह राणा, नीरज जोशी, रोहिणी खोब्रागडे, ख्याली राम, रीतिका भास्कर, एमएस सी कृषि के विद्यार्थी तथा क्षेत्र के प्रगतिशील किसान मौजूद रहे।

संबंधित खबरें