DA Image
30 सितम्बर, 2020|3:16|IST

अगली स्टोरी

प्रवासियों को उनके घरों और गांव में ही दें रोजगार: दीक्षित

default image

मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना की बैठक लेते डीएम मयूर दीक्षित ने सभी जिला स्तरीय अधिकारियों एवं वीडीओ को कार्यशैली में बदलाव लाते हुए अधिक से अधिक स्थानीय एवं प्रवासियों को रोजगार एवं स्वरोजगार से जोड़ने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोविड-19 संक्रमण के चलते अधिक संख्या में प्रवासी अपने घर, गांव लौटे हैं। सरकार की मंशा है कि उन्हें उनके गांव में ही स्वरोजगार एवं रोजगार देते हुए आत्मनिर्भर बनाना है। पलायन की दृष्टिगत भी यह जरूरी है कि स्थानीय एवं प्रवासियों को उनके घरों एवं गांव में ही रोजगार/स्वरोजगार के साधन सुलभ कराए जाएं।मंगलवार को जिला सभागार में बैठक लेते डीएम मयूर दीक्षित ने स्वरोजगार पर जोर देते हुए कहा कि प्रत्येक ब्लॉक वार प्रभारी अधिकारियों व रोजगार सेवको की तैनाती की है। जो स्थानीय व प्रवासी बेरोजगारों का सर्वे व सत्यापन कर हर सप्ताह रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे। सर्वे रिपोर्ट में कोरोना काल में प्रवासी कहां से आया है,उसे अब तक रोजगार मिला है या नही, आगे उसने अपने स्वरोजगार अपनाने के लिए सरकारी विभागों व बैंक में आवेदन किया है अथवा नहीं। इन सबका डेटा बारीकी से तैयार करने के निर्देश दिए हैं। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी पीसी डंडरियाल, सीवीओ डॉक्टर प्रलंयकरनाथ,जिला पर्यटन अधिकारी प्रकाश खत्री, सहायक निदेशक मत्स्य प्रमोद शुक्ला, सहायक निदेशक डेयरी अभिनव नौटियाल, जिला लीड बैंक अधिकारी बीएस तोमर सहित खंड विकास अधिकारी भी मौजूद थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Give migrants jobs in their homes and villages Dixit