ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंड उत्तरकाशीउत्तरकाशी में तेंदुए की खाल के साथ आरोपी गिरफ्तार

उत्तरकाशी में तेंदुए की खाल के साथ आरोपी गिरफ्तार

पुरोला पुलिस ने एक वन्य जीव तस्कर को तेंदुए की दो खाल के साथ गिरफ्तार किया है। मामले में पुलिस ने आरोपी के विरुद्ध वन्य जीव संरक्षण अधिनियम के तहत...

उत्तरकाशी में तेंदुए की खाल के साथ आरोपी गिरफ्तार
हिन्दुस्तान टीम,उत्तरकाशीSat, 17 Feb 2024 05:00 PM
ऐप पर पढ़ें

पुरोला पुलिस ने एक वन्य जीव तस्कर को तेंदुए की दो खाल के साथ गिरफ्तार किया है। मामले में पुलिस ने आरोपी के विरुद्ध वन्य जीव संरक्षण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर विधिक कार्रवाई शुरू कर दी है। पुलिस के अनुसार अभियुक्त उक्त खालों को रिखनाड़ लाखामण्डल के जंगलों से लाकर तराई के एरिया में उच्च दामों पर बेचने के लिये ले जा रहा था।
शनिवार को पत्रकारों से वार्ता करते सीओ ऑपरेशन प्रशांत कुमार ने बताया कि पुलिस कप्तान अर्पण यदुवंशी के दिशा निर्देश पर जनपद में वन्य जीवों के अंगों की तस्करी के प्रति संवेदनशीलता बरतते हुये पुलिस व एसओजी की टीमें संदिग्ध तत्वों, तस्करों, माफिया को चिन्हित कर उन पर लगातार कार्रवाई कर रही है। एसओजी उत्तरकाशी ने गहन छानबीन के तहत एसओजी प्रभारी प्रकाश राणा, थानाध्यक्ष पुरोला मोहन कठैत और वाइल्ड लाइफ क्राइम कंट्रोल ब्यूरो दिल्ली की एक संयुक्त टीम ने बीते शुक्रवार देर रात को देहरादून-नौगांव राष्ट्रीय राजमार्ग पर जरड़ाखड्ड के पास से देहरादून के लाखामंडल निवासी वरुण उर्फ लक्की पुत्र बलराम उम्र 29 वर्ष को तेंदुए की दो खाल की तस्करी करते गिरफ्तार किया। पुलिस द्वारा वन्य जीव की खाल की तस्दीक हेतु वन विभाग की टीम को मौके पर बुलाया गया। प्रंशात ने बताया कि अभियुक्त के आपराधिक इतिहास की जानकारी जुटाई जा रही है। अभियुक्त को शनिवार को न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।

सीओ प्रंशात कुमार ने बताया कि पुलिस व एसओजी की टीम पिछले कई दिनों से इसकी निगरानी कर रही थी। गुलदार वन्य जीव की दुर्लभ प्रजातियों में एक है, वन्य जीव संरक्षण अधिनियम की अनुसूची 1 में इसे उच्चतम स्तर की सुरक्षा प्राप्त वन्य जीव प्रजातियों में रखा गया है। पुलिस टीम में एसओजी प्रभारी प्रकाश राणा, एसआई राजेश कुमार, अब्बल सिंह, प्रवीन परमार, सूरज सिंह, दीपक नेगी, वाईल्ड लाइफ की टीम शमिल थी।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें