DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तराखंड  ›  टिहरी  ›  गुलदार की सक्रियता से दशहत में देवप्रयाग के ग्रामीण

टिहरीगुलदार की सक्रियता से दशहत में देवप्रयाग के ग्रामीण

हिन्दुस्तान टीम,टिहरीPublished By: Newswrap
Wed, 01 Jul 2020 02:45 PM
गुलदार की सक्रियता से दशहत में देवप्रयाग के ग्रामीण

देवप्रयाग के निकटवर्ती ग्रामीण क्षेत्रों मे कोरोना के साथ ही गुलदार की दहशत बनी है। क्षेत्र के करीब एक दर्जन गांवो में गुलदार पालतू पशुओ को निवाला बनाने के साथ ही कई लोगों पर भी जानलेवा हमला कर चुका है। वन विभाग ने गुलदार को कैद करने के लिए चौण्ड गांव मे पिंजरा भी लगाया, लेकिन अभी तक गुलदार पकड़ से दूर ही बना है। तीर्थनगरी देवप्रयाग के निकटवर्ती गांव भ्वीट,भटकोट, चौण्ड, मसूण, किरोड़, दनाडा, पुंडोरी, पनियाली,तुंणगी,पंतगाव, दनसाड़ा, सौडपाणी, भरपूरआदि में लगातार गुलदार की सक्रियता बनी है। गुलदार कई बार मवेशियों को निवाला बनाने के साथ ही किरोड़ गांव मे बुजुर्ग कुंदन सिंह व भरपूर गांव में रुमाली देवी पर जानलेवा भी कर चुका है। जिला पंचायत सदस्य नरेंद्र रावत घर में घुसे गुलदार से कुत्ते को बचाने के प्रयास में अपनी एक अंगुली ही गंवा बैठे। चौड प्रधान राधेश्याम कुकरेती का कहना है कि गांव में कई मवेशियों को निवाला बनाने व दिन दहाड़े गुलदार के घूमने से ग्रामीण काफी दहशत में हैं। काफी गुहार लगाने के बाद वन विभाग ने गांव मे गुलदार को पकड़ने के लिए पिंजड़ा तो लगाया, लेकिन अभी तक गुलदार करो पकड़ा नहीं जा सका है। रेंजर देवेंद्र सिह पुंडीर के कहना है कि गुलदार प्रभावित क्षेत्रों मे वन रक्षको की टीम रात्रि गश्त के लिए तैनात की जाएगी। और जिन ग्रामीणों को मवेशियों आदि का नुकसान हुआ है उन्हें विभागीय प्रावधानों के तहत मुआवजा दिया जाएगा।

संबंधित खबरें