DA Image
23 सितम्बर, 2020|9:57|IST

अगली स्टोरी

ग्रामीणों ने प्रशासन से की दोबारा पेड़ों की गणना की मांग

default image

ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेलवे परियोजना के तहत पेड़ों की गणना में हो रही अनियमितताओं के खिलाफ प्रशासन पर सौड़ के ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा। ग्रामीणों ने पेड़ों की दोबारा गणना करवाने की मांग प्रशासन से की है। रेल परियोजना के तहत अधिकृत सौड़ गांव में पेड़ों की गणना को लेकर हुई अनियमताओं के खिलाफ ग्रामीणों ने प्रशासन के खिलाफ नाराजगी जताई है। ग्रामीणों का कहना है कि रेलवे परियोजना से प्रभावित भूमिधरों के खेतों में पेड़ों की संख्या कम दर्शाई गई है, जबकि वास्तविकता में पेड़ गणना से कहीं अधिक है। फसली पेड़ों को गणना में दिखाया नहीं गया है। ग्रामीणों ने प्रशासन से मौका मुआयना कर पेड़ों की दोबारा गणना करवाने की मांग की है। ग्रामीणों ने रेलवे परियोजना में स्थानीय लोगों को नौकरी दिये जाने की भी मांग की। कहा रेलवे परियोजना के भूमि संबंधित मामलें हाइकोर्ट में लंबित है, मामलों का निस्तारण हुए बिना प्रभावित भूमि पर काम शुरू नहीं होने देंगे। नगरपालिका अध्यक्ष कृष्ण कान्त कोटियाल और सौड़ गांव रेलवे संघर्ष समिति अध्यक्ष दिनेश टोडरिया के नेतृत्व में ग्रामीणों ने डीएम पौडी को सौड़ गांव की समस्याओं को लेकर तहसीलदार हरि मोहन खंडूरी और कानून गो एमएस रावत के माध्यम से ज्ञापन प्रेषित किया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The villagers demanded the administration to count the trees again