DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्रामीणों को बताया कैसे संरक्षित करें फलदार पौधे

ग्रामीणों को बताया कैसे संरक्षित करें फलदार पौधे

वन विभाग की ओर से चंबा के काणाताल में आयोजित तीन दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला में ग्रामीणों को नमामि गंगे योजना के तहत रोपे गए पौधों के संरक्षण की जानकारी दी गई। कार्यशाला में 150 ग्रामीणों ने प्रतिभाग किया। कार्यशाला में वन क्षेत्राधिकारी टिहरी रेंज एनएल डोभाल ने बताया कि इसी साल जनवरी माह में रेंज क्षेत्र में नमामि गंगे योजना के तहत 7 हजार 500 विभिन्न प्रजाति के फलदार पौधों का रोपण किया गया था। इस योजना का उद्देश्य ग्रामीणों को आत्मनिर्भर बनाने के साथ ही नदियों का संरक्षण करना है। अब किसानों को रोपित पौधों के संरक्षण की जानकारी दी जा रही है। कार्यशाला में काणाताल औद्योगिकी अनुसंधान के मास्टर ट्रेनर डॉ. विजय भारद्वाज ने ग्राफ्टिंग एवं गोटी लगाने तथा पौधों के रखरखाव की जानकारी दी। इस मौके पर जसवंत पंवार, सरदार सिंह गुसाईं, दर्मियान सिंह रावत, ललित मोहन थपलियाल, रणवीर सिंह रावत आदि मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Telling Villagers How to Protect Plant