DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तराखंड › टिहरी › शिक्षकों ने पेंशन देने की मांग की
टिहरी

शिक्षकों ने पेंशन देने की मांग की

हिन्दुस्तान टीम,टिहरीPublished By: Newswrap
Mon, 14 Jun 2021 03:20 PM
शिक्षकों ने पेंशन देने की मांग की

शिक्षा संगठन नरेंद्रनगर ने प्रस्ताव पारित कर 2004 की विज्ञप्ति के तहत नियुक्त शिक्षकों को पेंशन का लाभ देने की मांग की। संगठन ने बताया कि 2004 में विशिष्ट बीटीसी की विज्ञप्ति जारी हुई थी। इस विज्ञप्ति के माध्यम से नियुक्ति पाने वाले शिक्षक पेंशन के हकदार हैं। जबकि अंशदाई पेंशन योजना 1 अक्टूबर, 2005 से लागू हुई है। विशिष्ठ बीटीसी प्रशिक्षण प्राप्त शिक्षकों को नियुक्ति देने में विभाग ने दो साल का समय लगाया। जिसका खामियाजा आज इन शिक्षकों को उठाना पड़ रहा है। जिन्हें अंशदाई पेंशन योजना से जोड़ दिया गया। जबकि 2004 की विज्ञप्ति के अनुसार नियुक्ति पाने वाले शिक्षकों को पुरानी पेंशन योजना का लाभ मिलना चाहिए था। इन शिक्षकों का समर्थन करते हुये शिक्षा संगठन नरेंद्रनगर ने प्रस्ताव पारित कर प्रस्ताव कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल के समक्ष प्रस्ताव रखने का निर्णय लेते हुये मांग की, कि पुरानी पेंशन 2004 की विज्ञप्ति के आधार पर नियुक्त अध्यापकों को मिलनी चाहिए। बैठक में सर्वसम्मति से यह प्रस्ताव भी पारित किया गया कि 17140 का लाभ उन सभी शिक्षकों को दिया जाए, जो 4600 ग्रेड पे पर पहुंचे हैं। प्रदेश भर में हजारों शिक्षक 17140 के लाभ ना मिलने के कारण तथा विभागीय लापरवाही के कारण वित्तीय हानि का नुकसान उठाना पड रहे हैं। बैठक में पुरानी पेंशन बहाली आंदोलन को समर्थन दिया गया। इस अवसर पर ब्लॉक मंत्री राकेश उनियाल, पूर्णानंद बहुगुणा, अर्जुन राणा, उत्तम असवाल, विक्रम राणा, सुंदर सिंह नेगी, सुरेश बिजलवान, यशपाल चौहान, कंचन उनियाल, सुनैना बिजलवान, उमा डियूडी, ललिता राणा, सरला रावत, सुधा द्विवेदी, नरेंद्र सकलानी, महेश गुसांई आदि शामिल रहे।

संबंधित खबरें