Monday, January 17, 2022
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तराखंड टिहरीसैनिक कल्याण मंत्री जोशी ने वीरांगनाओं को ताम्र पत्र देकर सम्मानित किया

सैनिक कल्याण मंत्री जोशी ने वीरांगनाओं को ताम्र पत्र देकर सम्मानित किया

हिन्दुस्तान टीम,टिहरीNewswrap
Wed, 01 Dec 2021 05:00 PM
सैनिक कल्याण मंत्री जोशी ने वीरांगनाओं को ताम्र पत्र देकर सम्मानित किया

देहरादून के गुनियाल गांव मे सैन्य धाम निर्माण के लिए शहीदों के गांवों की मिट्टी एकत्र करने के लिए आयोजित सैनिक सम्मान यात्रा के दौरान चम्बा में आयोजित सम्मान समारोह में सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी ने 42 शहीदों के परिजनों को ताम्र पत्र एवं शॉल भेंट कर सम्मानित किया।

बुद्धवार को चम्बा में आयोजित शहीद सम्मान समारोह में सैनिक कल्याण मन्त्री गणेश जोशी ने कहा कि देहरादून में स्थापित किए जा रहे सैन्य धाम के लिए प्रदेशभर के शहीद सैनिकों के घर-आंगन की मिट्टी को देहरादून में पहुंचाया जा रहा है। कहा कि पहले सैनिकों के शहीद होने पर उनके घर सैनिक की बेल्ट और राख भेजी जाती थी। लेकिन भाजपा की अटल बिहारी वाजपेयी सरकार ने शहीदों के पार्थिव शरीर को शहीद के गांवों और घरों तक पहुंचाने का कार्य शुरू किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश की सेना और सैनिकों का आत्मविश्वास बढ़ा है। पूर्व सैनिकों की मांग वन रैंक, वन पेंशन को प्रधानमंत्री नरेंद्रमोदी जी ने लागू किया। प्रदेश की धामी सरकार ने शहीदों के आश्रितों को सरकारी नौकरी देने की घोषणा भी की है। शहीद सम्मान समारोह में वीर सैनिक परिवार की 42 वीरांगनाओं एवं उनके परिवार के सदस्यों को शॉल ओढ़ाकर और ताम्र पत्र देकर सम्मानित किया गया। इस मौके पर विधायक डा धन सिंह नेगी, नगरपालिका अध्यक्ष सुमना रमोला, भाजपा जिलाध्यक्ष विनोद रतूड़ी, पूर्व सैनिक संगठन के पूर्व अध्यक्ष इंद्र सिंह नेंगी, दुग्ध संघ के अध्यक्ष जगदम्बा बैलवाल, प्रमुख शिवानी बिष्ट, सुनीता देवी, सीडीओ नमामि बंसल, इंद्रपाल परमार, विजय कठैत, सोमवारी लाल सकलानी आदि मौजूद रहे।

सम्मान लेने से किया इनकार

समारोह में ग्रामसभा खेमड़ा के कारगिल शहीद दिनेश बहुगुणा के भतीजे विकास बहुगुणा ने सैन्य धाम के लिए मिट्टी देने व सम्मान लेने से इनकार किया। उन्होंने सैन्य कल्याण मन्त्री से ग्रामसभा खेमड़ा तक पहले सड़क पहुंचाने की मांग की। वहीं ग्रामसभा नचौली के पिपल्टी ग्राम के राजेन्द्र घिल्डियाल ने कहा कि उनके भाई लक्ष्मी प्रसाद घिल्डियाल कारगिल में शहीद हुए थे। 22 सालों से वे राइंका इंटर कॉलेज नचौली का नाम शहीद के नाम पर रखने की मांग की जा रही लेकिन शासन प्रशासन इस ओर ध्यान नहीं दे रहा।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें