DA Image
17 फरवरी, 2020|3:30|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भूखंड आवंटित न होने से कठियागांव के गामीण नाराज

कठियागांव के ग्रामीणों को आवंटित होने वाले 35 भूखंडों को लेकर टीएचडीसी अब तक निर्णय नहीं ले पाया है। ग्रामीण बीते 6 महीनों से लगातार जिला प्रशासन के चक्कर लगा रहे हैं। लेकिन अब तक इन्हें लेकर नतीजा नहीं निकल पाया है। रोषित ग्रामीणों ने एक बार फिर टीएचडीसी के काम रोकने की चेतावनी दी है। जिला मुख्यालय के निकटस्थ कठियागांव के ग्रामीणों ने डीएम डा़ वी षणमुगम से बीती जुलाई के प्रथम सप्ताह में मुलाकात कर प्रभावित 35 ग्रामीणों को भूखंड आवंटित करने की मांग की। जिस पर डीएम ने पुनर्वास विभाग को पत्र लिखकर ग्रामीणों के समस्या के समाधान को लिखा है। लेकिन लंबा समय बीतने के बाद भी ग्रामीणों की समस्या के समाधान को लेकर अब तक बैठक नहीं की गई है। बीती 30 जनवरी को भी ग्रामीणों की समस्याओं को लेकर बैठक आहूत की गई थी, लेकिन टीएचडीसी के अधिकारी बैठक में नहीं आए। टीएचडीसी की हीलाहवाली से खफा ग्रामीणों में शिशपाल सिंह, महिपाल रावत, राजेश सिंह, जसपाल, अर्जुन आदि का कहना है कि वे लगातार भूखंड आवंटन को प्रशासन और टीएचडीसी के चक्कर लगा रहे हैं। डीएम के आदेशों के बाद भी टीएचडीसी उनकी समस्याओं को लेकर गंभीर नहीं है। अगर जल्द ही ग्रामीणों के भूखंड आवंटन को लेकर टीएचडीसी निर्णय नहीं लेता है, तो ग्रामीण टीएचडीसी के होने वाले निर्माण कार्यों को रोक देंगे। जिसके लिए टीएचडीसी जिम्मेदार होगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Rural Anesthesia of Kadiaagaon due to non-allotment of land