अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

घटना के विरोध में बाजार बंद कर लोगों ने लगाया चक्काजाम

उपोली रमोली पट्टी के एक गांव निवासी स्थानीय युवती के साथ दूसरे समुदाय के युवकों द्वारा अभद्र व्यवहार करने की घटना पर स्थानीय लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। स्थानीय व्यापारियों ने करीब पांच घंटे तक अपने व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रखकर चक्काजाम व विरोध प्रदर्शन किया। पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर दोषियों को कड़ी सजा देने की मांग की। गुरुवार को प्रतापनगर क्षेत्र के एक गांव में समुदाय विशेष के दो युवकों द्वारा निजी स्कूल में शिक्षिका के पद पर तैनात युवती का गलत नीयत से रास्ता रोकने और चाकू दिखाने की घटना से लंबगांव बाजार में बवाल हो गया। घटना का पता चलने पर स्थानीय व्यापारियों ने अपने व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद कर स्थानीय लोगों के साथ चक्काचाम व विरोध प्रदर्शन किया। लोगों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर बाहरी लोगों के सत्यापन के कार्य में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया। पूर्व विधायक विक्रम सिंह नेगी ने कहा कि इस तरह की घटना में शामिल दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। पूर्व प्रमुख रोशन लाल सेमवाल ने कहा कि क्षेत्र में बाहरी लोगों की घुसपैठ बढ़ती जा रही है। जिससे क्षेत्र का माहौल खराब हो रहा है। पूर्व व्यापार मंडल अध्यक्ष देवी सिंह पंवार व वर्तमान अध्यक्ष केशव रावत ने कहा कि पुलिस प्रशासन की निष्क्रियता के चलते क्षेत्र में अपराधिक घटनाएं बढ़ रही है। इस दौरान स्थानीय लोगों ने पुलिस को 5 सूत्रीय मांगों को लेकर ज्ञापन भी सौंपा। उन्होंने बाजार में समुदाय विशेष के युवक द्वारा चलाये जा रहे साइबर कैफे सेंटर को भी बंद करने की मांग की। प्रदर्शन करने वालों में रोशन रांगड़, भान सिंह नेगी, दिनेश बिष्ट, कबूल सिंह पंवार, युद्धवीर राणा, सुखदेव जोशी, गैंणा बगियाल, सचिन कुड़ियाल, सुरेश रावत, पवन राणा, उदय रावत, विनोद पंवार, सुमेर रावत, लक्ष्मण कलूड़ा, यशवीर बिष्ट, मुकेश रावत, राकेश थलवाल आदि शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: People protested by protesting against the incident