DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जिला अस्पताल को पीपीपी मोड देने का विरोध

सत्यमेव जयते संगठन ने बैठक कर जिला अस्पताल को पीपीपी मोड पर दिए जाने का विरोध किया। उन्होंने सरकार से जिला अस्पताल बौराड़ी में सुविधाओं के बढ़ावा दिए जाने की मांग की। उन्होंने कहा विरोध के बावजूद अस्पताल को पीपीपी मोड पर दिया गया आंदोलन किया जाएगा। सत्यमेव जयते संगठन से जुड़े लोगों ने बौराड़ी स्थित सांई चौक पर बैठक की। बैठक में संगठन के मुखिया मोहन सिंह रावत ने कहा कि इससे पूर्व पहाड़ी क्षेत्र के कई अस्पतालों को सरकार द्वारा पीपीपी मोड पर दिया गया। पीपीपी मोड पर दिए जाने के बाद अस्पतालों की स्थिति में सुधार होने के बजाय खराब हुई है। उन्होंने कहा वर्तमान समय में जिला अस्पताल में मरीजों को जो सुविधाएं मिल भी रही है, अस्पताल को पीपीपी मोड दिए जाने के और वहां भी नहीं मिल पाएगी। कहा कि अस्पताल में चिकित्सकों का टोटा बना हुआ है। उन्होंने सरकार से शीघ्र अस्पताल में चिकित्सकों की तैनाती के साथ सभी आवश्यक उपकरणों को जुटाने की मांग की है, ताकि मरीजों को जिला अस्पताल में बेहत्तर सुविधा मुहैया हो सके। उन्होंने कहा संगठन के विरोध के बावजूद जिला अस्पताल को पीपीपी मोड पर दिया गया तो संगठन आंदोलन के लिए बाध्य होगा। बैठक में हितेश चौहान, प्रकाश राणा, छात्र संघ अध्यक्ष गौरव रावत, विवि प्रतिनिधि प्रदीप रावत, दौलत रावत, किरन नेगी, नरेश, मो. शहदाब, अनस अहमद, श्वेता बेलवाल, रजनी सजवाण, सविता वेलवाल, जयदीप रावत, पूनम जोशी, प्रदीप प्रसाद, अनुज आर्य, हिमांशु नेगी पंकज बिज्लवाण, शंकर नेगी, हिमांशु सजवाण, अशुतोष सेमवाल, रौनक बर्त्थवाल, मनजीत बंगारी, अंबुज गुनसोला, नीरज बिष्ट, सूरज सिल्सवाल आदि उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Opposition to District Hospital on PPP mode