DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तराखंड  ›  टिहरी  ›  नेटवर्क सुविधा से वंचित हैं भिलंगना ब्लॉक के कई गांव
टिहरी

नेटवर्क सुविधा से वंचित हैं भिलंगना ब्लॉक के कई गांव

हिन्दुस्तान टीम,टिहरीPublished By: Newswrap
Thu, 17 Jun 2021 02:00 PM
नेटवर्क सुविधा से वंचित हैं भिलंगना ब्लॉक के कई गांव

संचार क्रांति के इस युग मे भिलंगना ब्लॉक के एक दर्जन गांव अभी भी नेटवर्क सुविधा से वंचित हैं। जिस कारण यहां के लोग सूचना तकनीकी के अभाव में 18वीं सदी का जीवन जीने को मजबूर हैं। शिक्षा का हब कहे जाने वाले सेंदुल गांव के छात्रों और ग्राम प्रधान ने दूरसंचार सुविधा उपलब्ध कराने को लेकर प्रधानमंत्री को खुला पत्र भेजा है।

सेंदुल गांव घनसाली तहसील और ब्लॉक मुख्यालय से मात्र चार किमी की दूरी पर स्थित है , जहां पर क्षेत्र का एक मात्र डिग्री कॉलेज, बालिका संस्कृत महाविद्यालय और राइंका कॉलेज केमरा, अनुसूचित जाति छात्रावास आदि स्थित हैं। लेकिन मोबाइल नेटवर्क की सुविधा न होने के कारण छात्र छात्राओं को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। विगत एक वर्ष से कोरोना महामारी के चलते कालेज व विद्यालय बंद है तथा छात्रों को घर पर ही ऑनलाइन पढ़ाई करनी पड़ रही है। सेंदुल के छात्रों को पढ़ाई के लिए अपने सेल फोन व टैबलेट लेकर घर से दूर किसी पहाड़ी की चोटी या घनसाली के नजदीक नेटवर्क की तलाश में जाकर पढ़ाई करनी पड़ रही है। ग्राम प्रधान सविता मैठाणी, छात्र अचित मैठाणी व प्रशांत मैठाणी सहित कई छात्रों ने इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खुला पत्र लिखकर मोबाइल टावर स्थापित करने की मांग की है। यहीं स्थिति बूढाकेदार के 8 गांवों, भिलंग के गंगी और नैलचामी के तीन गांवों की है। जहां पर लोग मोबाइल नेटवर्क की समस्या से जूझ रहे हैं। पूर्व विधायक भीमलाल आर्य ने भी दूर संचार मंत्री को उक्त गांवों में मोबाइल टावर स्थापित करने की मांग की है।

संबंधित खबरें