अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बोटिंग पर बैन से प्रभावित संचालकों को क्षतिपूर्ति दे सरकारः भट्ट

बोटिंग पर बैन से प्रभावित संचालकों को क्षतिपूर्ति दे सरकारः भट्ट

कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता शांति प्रसाद भट्ट ने हाईकोर्ट के टिहरी बांध झील में वॉटर स्पोर्ट्स गतिविधियों पर लगी रोक हटाने के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि नियमावली होने के बावजूद रोक को समाप्त करने के लिए सरकार ने कोई कदम नहीं उठाया। उन्होंने बोटिंग पर प्रतिबंध के कारण बोट मालिक और चालकों को हुए आार्थिक नुकसान के बदले क्षतिपूर्ति देने की मांग की।

बुधवार को पार्टी कार्यालय में प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए प्रदेश प्रवक्ता शांति प्रसाद भट्ट ने जिले के संबंध में हाईकोर्ट द्वारा दिए गए दो फैसलों पर आभार जताया। उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 में पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार के कार्यकाल के दौरान टिहरी झील में बोटिंग संचालन को लेकर जिला पंचायत द्वारा नियमावली तैयार की गयी थी। लेकिन सरकार द्वारा कोर्ट को नियमावली होने की जानकारी नहीं दी। झील में वॉटर स्पोर्ट्स गतिविधियों पर रोक लगने के कारण बोट मालिक व चालकों को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा। उन्होंने आर्थिक नुकसान झेलने वाले सभी बोट मालिक व चालकों को क्षतिपूर्ति देने की मांग की। उन्होंने कहा कि साधन सहकारी सेमण्डीधार में कांग्रेस प्रत्याशियों को जीतता देखकर भाजपा सरकार द्वारा निर्वाचन स्थगित कर नामांकन रद्द कर दिया था। जब मामले को लेकर कांग्रेस हाईकोर्ट गयी तो हाईकोर्ट ने पूर्व में हुए नामांकन पर ही निर्वाचन की तिथि घोषित की। जिसके बाद हुए चुनाव में सभी पदों पर कांग्रेस के प्रत्याशी चुनाव जीतकर आए हैं। उन्होंने सभी निर्वाचित सदस्यों का कांग्रेस कार्यालय में स्वागत करते हुए कहा कि हाईकोर्ट के इन फैसलों से लोकतंत्र की रक्षा हुई है। इस मौके पर महिला अध्यक्ष दर्शनी रावत, सीमा कृषाली, पुरूषोत्तम थलवाल, बचन सिंह रावत, किशोरी लाल, राजेंद्र डोभाल, शकुन्तला नेगी, आशा रावत आदि मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Government to compensate affected operators from boating on boating Bhatt