ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंडभूकंप आने से पहले ही होंगे अलर्ट, भूदेव ऐप की इन खासियतों से बचेगी जान

भूकंप आने से पहले ही होंगे अलर्ट, भूदेव ऐप की इन खासियतों से बचेगी जान

भूकंप की तैयारियों और प्रतिक्रिया रणनीतियों के बारे में भी उपयोगकर्ताओं की समझ को बढ़ाता है। ऐप के इंटरफेस के माध्यम से आपातकालीन सहायता तक त्वरित भूदेव संकट पर एक जीवन रेखा के रूप में उभरता है।

भूकंप आने से पहले ही होंगे अलर्ट, भूदेव ऐप की इन खासियतों से बचेगी जान
Himanshu Kumar Lallरुड़की, हिन्दुस्तानSat, 25 May 2024 10:41 AM
ऐप पर पढ़ें

प्रतिष्ठित भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) रुड़की और उत्तराखंड सरकार के सहयोग से अत्याधुनिक भूकंप पूर्व चेतावनी ऐप भूदेव को लांच किया गया है। इसे भूदेव यानी भूकंप डिजास्टर अर्ली विजिलेंट नाम दिया गया है।

यह ऐप लोगों की सुरक्षा के लिए आधारशिला के रूप में कार्य करता है। इसे आईआईटी रुड़की के तकनीकी विशेषज्ञों ने तैयार किया है। भूदेव सामाजिक कल्याण के लिए तकनीकी नवाचार के प्रति संस्थान के समर्पण का प्रमाण है।

सावधानीपूर्वक डिजाइन की गई सुविधाओं से भूदेव ऐप उपयोगकर्ताओं को वास्तविक समय के भूकंप अलर्ट का नोटिफिकेशन देता है। इसके अलावा भूकंप की तैयारियों और प्रतिक्रिया रणनीतियों के बारे में भी उपयोगकर्ताओं की समझ को बढ़ाता है। ऐप के इंटरफेस के माध्यम से आपातकालीन सहायता तक त्वरित भूदेव संकट के समय में एक जीवन रेखा के रूप में उभरता है।

इसके अलावा भूदेव का एसओएस बटन तत्काल पहुंच प्रदान करता है, जिससे उपयोगकर्ता एक टैप से विश्वसनीय संपर्कों और अधिकारियों को उनके सटीक स्थान के बारे में सूचित कर सकते हैं। जैसे-जैसे उपयोगकर्ता ऐप पर नेविगेट करते हैं, उन्हें अपनी तैयारियों और प्रतिक्रिया रणनीतियों को बढ़ाने के लिए मूल्यवान अंतर्दृष्टि प्राप्त होती है।

आपदा न्यूनीकरण और प्रबंधन में हमारा मिशन हमेशा भूकंपीय घटनाओं के प्रभाव को कम करने के लिए ज्ञान और विशेषज्ञता का उपयोग करना रहा है। भूदेव के साथ हमें एक ऐसा समाधान प्रस्तुत करने पर गर्व है जिससे यह सुनिश्चित होता है कि लोग अपने मार्ग में आने वाली किसी भी चुनौती का सामना बेहतर ढंग से कर सकते हैं। 
प्रो. कमल , आईआईटी रुड़की

तकनीक की तेज प्रगति के इस युग में भूदेव ऐप नवाचार और सहयोग का प्रतिनिधित्व करता है। उत्तराखंड सरकार के साथ हमारे संयुक्त प्रयासों के माध्यम से हमने एक ऐसा उपकरण बनाया है जो लोगों को वास्तविक समय की जानकारी के साथ सशक्त बनाता है। 
प्रोफेसर केके पंत , निदेशक , आईआईटी रुड़की