DA Image
17 जनवरी, 2021|7:30|IST

अगली स्टोरी

किसान आंदोलन: महिलाओं ने भी भरी हुंकार, किसानों को समर्थन देने पहुंची गाजीपुर बॉर्डर 

kisan andolan  bihar  bjp

गाजीपुर बॉर्डर पर महिलाओं को सम्मान देने के लिये सोमवार को महिला दिवस मनाया जायेगा। इस दौरान जो महिलायें किसान आंदोलन में अहम भूमिका निभा रही हैं उनका सम्मान किया जायेगा। इस समारोह के लिये क्षेत्र से 130 महिलायें गाजीपुर बॉर्डर के लिये रवाना हुई हैं।   गाजीपुर बॉर्डर पर किसान करीब दो महीने से आंदोलन कर रहे हैं। गाजीपुर आंदोलन समिति इस आंदोलन को और अधिक मजबूत करने के लिये ऐसी महिलाओं को सम्मानित करने जा रहा है जो आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभा रही हैं।

ऐसी महिलाओं का सम्मान सोमवार को बॉर्डर पर किया जाना है। बाजपुर से रविवार को 130 महिलाओं का दल गाजीपुर बॉर्डर रवाना हुआ। इससे पूर्व माता कुलविंदर कौर ने अरदास की। इसके बाद पीसीसी सदस्य सुनीता टम्टा की अगुवाई में बसें दिल्ली रवाना हुईं। सुनीता ने कहा कि अपने हक की लड़ाई लड़ने के लिए धरना दे रहे किसानों के साथ महिलाएं हर कदम पर साथ खड़ी हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र की सरकार तानाशाह हो चुकी है जिसे जगाने के लिए महिलाएं पूरा प्रयास कर रही हैं।

उन्होंने बताया कि महिलाओं के सम्मान के लिये गाजीपुर में महिलाओं के लिए सम्मान के लिए मंच सजाया गया है। मौके पर सर्वजीत कौर, सुनीता टम्टा, कुलवंत कौर, रंजीत कौर, किरणदीप कौर, विक्रम जीत सिंह, परमजीत कौर, कुलवंत कौर, राजवंत कौर, कश्मीर कौर, हरकीरत सिंह, रिधमन सिद्धू, जसप्रीत कौर, सिमरजीत कौर आदि महिलाएं मौजूद थी।

बस सेवा से 850 लोग अपनों से मिलने गए दिल्ली
बाजपुर।
गाजीपुर में चल रहे किसान आंदोलन को मजबूत करने के उद्देश्य से युवा किसान ने गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटियों की ओर से नि:शुल्क निजी बस सेवा शुरू की थी। इस सेवा के अंतर्गत दो जनवरी को पहली बस गाजीपुर के लिये रवाना हुई थी। वहीं 15 दिनों में करीब 12 बसें दिल्ली के लिये रवाना की गई है। इस बस सेवा का मुख्य उद्देश्य महिलायें, बच्चे व बुजुर्ग माता पिता को बॉर्डर पर ले जाकर उनके परिवार के किसान से मिलवाने से था। वहीं किसान नेता अजीत प्रताप रंधावा ने बताया कि इन बीते 15 दिनों में इस सेवा का लाभ 850 से अधिक लोग अपने परिजनों से मिल कर आ चुके हैं।

खटीमा से 67 किसानों को लेकर एक बस व दो कारें दिल्ली रवाना
खटीमा। कृषि कानूनों के खिलाफ खटीमा और नानकमत्ता से एक बस व दो कारों से 67 किसानों का जत्था दिल्ली गाजीपुर रवाना हुआ। भारतीय किसान यूनियन के आह्वान पर किसानों के जत्थे लगातार दिल्ली गाजीपुर रवाना हो रहे हैं। किसानों की दिल्ली बॉर्डर पर रवानगी को 26 जनवरी को होने वाले किसान मार्च की तैयारियों से देखा जा रहा है। भाकियू के ब्लॉक अध्यक्ष गुरुसेवक सिंह व मझोला गन्ना समिति के अध्यक्ष जसविंदर सिंह पप्पू के आह्वान पर खटीमा व नानकमता क्षेत्र के किसान रविवार की सुबह दिल्ली गाजीपुर बॉर्डर की ओर रवाना हुए।

गुरुसेवक सिंह ने कहा कि इस समय भी खटीमा के किसान दिल्ली गाजीपुर बॉर्डर पर भारी संख्या में जमे हुए हैं। शनिवार को पूर्व जिला पंचायत सदस्य व राणा थारू परिषद के संरक्षक चेतराम राणा अपने साथियों के साथ 24 घंटे के लिए चल रही भूख हड़ताल पर वहां बैठे। गुरुसेवक सिंह ने कहा कि जब तक कृषि बिल वापस नहीं होते उनका आंदोलन जारी रहेगा। गाजीपुर बॉर्डर जाने वालों में निर्मल सिंह प्रतापपुर, जीवन सिंह खमरिया, मलकीत सिंह, कुलदीप सिंह, हरदेव सिंह, बलदेव सिंह, लखविंदर सिंह लक्खा आदि थे।

जसपुर से किसानों को सर्मथन देने गाजीपुर बॉर्डर पहुंचीं महिलायें
जसपुर। कृषि कानूनों के विरोध में गाजीपुर बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे किसानों को सर्मथन देने के लिए किसान नेता के साथ पत्नी, बहन और बच्चे गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे हैं। किसान नेता एक सप्ताह तक अपने परिवार के साथ किसान आंदोलन में शामिल रहेंगे। वहीं, सोमवार को 15 किसानों का जत्था भाकियू नेता टिकैत से मिलने बॉर्डर जायेगा। कलियावाला निवासी किसान नेता सुखवीर सिंह अब तक काफी किसानों को बॉर्डर पर ले जा चुके हैं। रविवार को सुखवीर सिंह की पत्नी पवनदीप कौर ने बॉर्डर पहुंचकर किसानों को समर्थन देने की इच्छा जताई। पवनदीप अपने पति सुखवीर सिंह, अपनी ननद एवं पुत्र नवराज सिंह के साथ बॉर्डर पहुंची। मंच से भाषण देकर किसानों को समर्थन दिया। कहा कि किसान आंदोलन में महिलायें भी पीछे नहीं है।

आज 15 सदस्य जायेंगे बॉर्डर
जिला अध्यक्ष प्रेम सहोता ने बताया कि भाकियू और संयुक्त किसान मोर्चा के 15 सदस्य सोमवार को राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत से मिलने गाजीपुर दिल्ली बॉर्डर जाएंगे। 26 जनवरी पर प्रस्तावित किसान परेड में शामिल होने के लिए दिशा निर्देश लेकर वापस आएंगे। निर्देशों पर जिले से ट्रैक्टर लेकर किसान परेड में शामिल होने के लिए दिल्ली जाएंगे।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:women in large number went to delhi gajipur border to support farmers protest kisan andolan against agriculture act krishi bill