DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सावधान: किट्टी के लालच में न गंवाएं अपनी कमाई, जानिए कौन होता हे ‘सोफ्ट टार्गेट’

Fraud

अवैध तरीके से किट्टी चलाने वाले धंधेबाजों के जाल में देहरादून के लोग फंसते जा रहे हैं। नोटबंदी के बाद से देहरादून में किट्टी ठगी के मामले तेजी से बढ़े हैं। बीते दो माह में किट्टी का धंधा चलाने वाले शातिर डेढ़ हजार से ज्यादा लोगों के करोड़ों रुपये डकारकर फरार हो गए हैं। ठगों के जाल में फंसे लोग अब हाथ मलते नजर आ रहे हैं।  किट्टी में इनवेस्टमेंट के नाम पर ठगी की वारदातें लगातार बढ़ती जा रही हैं। ठगी की रकम पाने के लिए आए दिन लोगों की भीड़ शहर के चौकी-थानों में भी जुटने लगी है। दो महीने के भीतर शहर में किट्टी ठगी के चार मुकदमे दर्ज हो चुके हैं। इन मुकदमों के आरोपी किट्टी संचालक ही डेढ़ हजार से ज्यादा लोगों की मोटी रकम ठगकर फरार हो गए हैं। लोगों को करोड़ों की रकम की चपत लगी है।  अधिवक्ता संजीव शर्मा का कहना है कि देहरादून में किट्टी का अवैध धंधा किया जा रहा है। लोगों को विश्वास में लेकर यह फर्जीवाड़ा किया जाता है। इससे बचने के लिए लोगों को खुद जागरूक होना होगा। अपनी गाढ़ी कमाई यूं ही नहीं लुटानी चाहिए। 

कई प्रकार से दिया जाता है लालच 
एसपी सिटी श्वेता चौबा का कहना है कि महिलाएं किट्टी के जरिए मोटी कमाई के साथ ही हर महीने किट्टी संचालकों की ओर से बड़े-बड़े रेस्टोरेंट या होटलों में होने वाली पार्टी के लालच में आ जाती हैं। इस लालच में वह किट्टी संचालकों के कारोबार की पड़ताल भी नहीं करती हैं। उन्होंने कहा कि किट्टी के धंधेबाजों के लालच से बचना होगा। पुलिस ऐसे लोगों पर शिकंजा कसने के लिए आरबीआई की मदद भी ले रही है। ताकि इन पर सख्त कार्रवाई कर लोगों को इनसे बचाया जा सके। 

हाल ही में किट्टी ठगी की वारदातें 

  • 21 मई : सहस्रधारा रोड निवासी हरचरण सिंह की तहरीर पर किट्टी ठगी को लेकर डीएल रोड निवासी जमील अहमद के खिलाफ मुकदमा दर्ज। जमील ने कई लोगों को किट्टी के नाम पर मोटी कमाई का लालच दिया।
  • तीन मई: किट्टी ठगी को लेकर अनीता शास्त्री निवासी जोहड़ी गांव, जाखन की ओर से सुनीता खत्री पत्नी लाल बहादुर निवासी शिवकुंज कालोनी, केदारपुर और उसकी बेटी मनीषा, माधुरी, मीनाक्षी, मोना और मानी के खिलाफ किट्टी ठगी को लेकर नेहरू कॉलोनी थाने में मुकदमा दर्ज हुआ। इन पर 250 से अधिक लोगों से किट्टी ठगी का आरोप है। 
  • 29 अप्रैल: दून और आसपास के जिलों के एक हजार से ज्यादा लोगों से सात करोड़ रुपये की किट्टी ठगी के आरोपी दंपति और उनकी दो बेटियों के खिलाफ शहर कोतवाली में मुकदमा दर्ज हुआ है। आरोपी वर्ष 2016 से बुटिक दुकान के साथ ही किट्टी चला रहे थे। पुलिस ने आरोपी भावना शर्मा, उसके पति अजय शर्मा, बेटी वंशिता और इशिता निवासी ओंकार रोड के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। भवना शर्मा बुटिक की दुकान की आड़ में किट्टी चला रही थी।
  • 21 अप्रैल: किट्टी ठगी को लेकर सुशीला बड़थ्वाल के खिलाफ 500 से ज्यादा लोगों से ठगी के आरोप में मुकदमा दर्ज हुआ है। पीड़िता ऐश्वर्या गैरोला, मधु रावत, रीना डिमरी आदि की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपी है कि बीपी बड़थ्वाल किट्टी का कारोबार करते थे। उनकी मौत होने पर उनकी पत्नी सुशीला ने सभी पीड़ितों की रकम वापस करने की झांसा दिया। तय समय पर रकम नहीं लौटाने पर महिला के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया।

 

आरबीआई में कर सकते हैं शिकायत
किट्टी का अवैध धंधा चलाने वालों के खिलाफ लोग आरबीआई के ऑनलाइन पोर्टल सचेत (sachet) पर शिकायत कर सकते हैं। अन्य जानकारी के लिए dnbsdehradun@ rbi. org. in पर  शिकायत की जा सकती है।

महिलाएं हैं साफ्ट टार्गेट
किट्टी ठगी की शिकार अधिकांश महिलाएं हैं। हाल में देहरादून में दर्ज मुकदमों के पीड़ितों में 80 फीसदी महिलाएं शामिल हैं। जिन्होंने घर से छोटा-छोटी रकम जोड़कर किट्टी में लगाई और किट्टी के धंधेबाज ठग ले गए।

बिना पंजीकरण किट्टी का धंधा चलाना गलत
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के स्थानीय अधिकारियों का कहना है कि किट्टी के व्यवसाय के लिए कुछ लोग नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनी का लाइसेंस लेते हैं। ऐसे लोग किट्टी का कारोबार करते हैं तो यह सही है। यह लोग किसी की रकम हड़पते हैं तो ऐसे मामलों में आरबीआई कार्रवाई करता है। अगर कोई कंपनी पंजीकरण कराकर या सेबी नियमों के तहत यह व्यवसाय करता हैं तो तब संबंधित विभाग कार्रवाई करता है, लेकिन अगर लोग बिना जागरूकता के घरों से फर्जी तरीके से यह धंधा करने वालों के जाल में फंसते हैं तो ऐसे मामले में प्राथमिक तौर पर पुलिस ही फर्जीवाड़े के तहत कार्रवाई करती है। अवैध तरीके से रुपये के लेनदेन के लिए वित्तीय संस्थान जैसा अवैध धंधा चलाने वालों के खिलाफ सीधे तौर पर आरबीआई दून में कोई कार्रवाई नहीं कर पाया है।
 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:women are soft target in kitty operates by fraudsters in dehradun