ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंडयमुनोत्री हाईवे पर टनल में फंसे 40 लोगों की 1 दिन बाद भी क्यों आफत में जान? सीएम धामी उत्तरकाशी पहुंचे

यमुनोत्री हाईवे पर टनल में फंसे 40 लोगों की 1 दिन बाद भी क्यों आफत में जान? सीएम धामी उत्तरकाशी पहुंचे

राहत की बात यह है कि वायरलेस वाकी-टॉकी से टनल के अंदर फंसे मजदूरों से सम्पर्क हुआ है। सभी के सुरक्षित होने की जानकारी मिली है। कैम्प्रेसर के माध्यम से कुछ खाने के पैकेट अंदर भिजवाये गये हैं।

यमुनोत्री हाईवे पर टनल में फंसे 40 लोगों की 1 दिन बाद भी क्यों आफत में जान? सीएम धामी उत्तरकाशी पहुंचे
Himanshu Kumar Lallउत्तरकाशी, लाइव हिन्दुस्तानMon, 13 Nov 2023 12:54 PM
ऐप पर पढ़ें

सीएम पुष्कर सिंह धामी सोमवार को उत्तरकाशी के सिलक्यारा पहुंचे हैं। टनल में फंसे लोगों के लिए चलाए जा रहे रेस्क्यू ऑपरेशन से जुड़े अपडेट भी लिया। सीएम धामी ने राहत व बचाव दल को जल्द ही टनल में फंसे लोगों को सकुशल बाहर निकालने के सख्त निर्देश भी दिए।

उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में यमुनोत्री हाईवे पर टनल में फंसे 40 लोगों को सकुशल बाहर निकालने का कार्य जारी है। एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, आईटीबीपी , पुलिस, बीआरओ सहित जिला प्रशासन की टीमें मौके पर हैं।

लेकिन, चिंता की बात है कि रविवार सुबह करीब 5 बजे से टनल में फंसे लोगों को अभी तक बाहर निकाला जा सका। रेस्क्यू टीम द्वारा लोगों को बाहर निकालने का लगातार प्रयास किया जा रहा है। यमुनोत्री हाईवे  पर बन रही टनल मलबा हटाने का कार्य लगातार जारी है।

राहत की बात यह है कि वायरलेस वाकी-टॉकी से टनल के अंदर फंसे मजदूरों से सम्पर्क हुआ है। सभी के सुरक्षित होने की जानकारी मिली है। कैम्प्रेसर के माध्यम से कुछ खाने के पैकेट अंदर भिजवाये गये हैं। टनल में लगातार ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है।

यह भी पढ़ें:दिवाली पर नेशनल हाईवे में काल बनी टनल, उत्तरकाशी में 12 घंटे से ज्यादा समय से फंसी 40 जान

राहत और बचाव अभियान में समन्वय के लिए 24 घंटे अधिकारियों  की ड्यूटी लगाई गई है। बीती रात के शिफ्ट में इस काम का समन्वय देख रहे जल संस्थान के प्रभारी अधिशासी अभियंता दिवाकर डंगवाल ने तड़के टनल से बाहर आने पर बताया की मलबा हटाने का कार्य तेजी से जारी है।

रात में फंसे मजदूरों तक संपर्क स्थापित करने और उन तक भोजन और ऑक्सीजन की आपूर्ति करने की कवायद गई है। सिलक्यारा कंट्रोल रूम द्वारा बताया गया कि रेस्क्यू टीम द्वारा टनल के अंदर करीब 15 मीटर मलबा हटाया जा चुका है।

सीएम धामी ने दिए यह निर्देश
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सिलक्यारा सुरंग के भीतर हुए भू धंसाव स्थल का निरीक्षण कर राहत और बचाव कार्यों की समीक्षा की । मुख्यमंत्री ने कहा कि सुरंग में फंसे मजदूरों को जल्द सुरक्षित निकालना सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है, जिसके लिए हर संभव प्रयास किया जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने राहत और बचाव अभियान में जुटे अधिकारियों और विभिन्न एजेंसियों को परस्पर बेहतर समन्वय और तत्परता के साथ राहत और बचाव कार्य पूरी तेजी से चलाने के निर्देश देते हुए कहा की अभियान के लिए बाहर से जिस तरह की भी सामग्री और विशेषज्ञता की आवश्यकता होगी उसे सरकार शीघ्र उपलब्ध कराएगी।