DA Image
27 मार्च, 2020|10:43|IST

अगली स्टोरी

परेशानी : सरकार ने गेहूं तो दे दिया लेकिन पिसवाएं कहां ? आवश्यक सेवा में शामिल न होने से चक्कियां भी बंद 

wheat

केंद्र और राज्य सरकार ने आमजन को राहत देने के लिए तीन तीन महीने का एडवांस गेहूं तो देने जा रही है। लेकिन इस गेहूं को लोग पिसवाएंगे कहां? लॉकडाउन की वजह से चक्कियां बंद हैं। लोगों ने सरकार से चक्कियों को भी कुछ राहत देने की मांग की है। चक्की मांग उठने पर पौडी के डीएम धीराज गब्र्याल ने चक्कियों और चावल मिल को खुला रखने की इजाजत दे दी है। अन्य जिलों में इसकी मांग होने लगी है।
 

कोरोना संकट से निपटने के लिए सरकार आम लोगों को पर्याप्त राशन देने जा रही है। चावल-दाल तो ठीक है लेकिन गेहूं के साथ एक तकनीकी दिक्कत भी है। गेहूं का आटा बनाने के लिए उसे पिसवाना भी जरूरी है। लेकिन आवश्यक सेवा में शामिल न होने के कारण चक्कियां बंद हैं।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:wheat grinding is issue as mills not covered under essential service are closed in uttarakhand