ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंडशादी की आ गई डेट, दूल्हा-दुल्हन भी तैयार; शुभ लग्न मुहूर्त शुरू

शादी की आ गई डेट, दूल्हा-दुल्हन भी तैयार; शुभ लग्न मुहूर्त शुरू

वार्ष्णेय के अनुसार हिन्दू पंचांग में इस बार 29 अप्रैल से 28 जून तक शुक्र और 6 मई से 2 जून तक गुरु अस्त रहेगा। जबकि 17 जुलाई से 12 नवंबर तक चातुर्मास्य रहेगा। इस कारण लग्न मुहूर्त नहीं रहेंगे।

शादी की आ गई डेट, दूल्हा-दुल्हन भी तैयार; शुभ लग्न मुहूर्त शुरू
Himanshu Kumar Lallहल्द्वानी, हिन्दुस्तानThu, 18 Apr 2024 12:05 PM
ऐप पर पढ़ें

हिन्दू नववर्ष में आज गुरुवार से शहनाइयां बजने लगेंगीं। गुरु एवं शुक्र के उदय होने से मांगलिक कार्य शुरू होंगे। इस साल अप्रैल, जुलाई, नवंबर व दिसंबर में ही विवाह होंगे। हालांकि इस वर्ष शुद्ध विवाह मुहूर्त कम रहेंगे, लेकिन विभिन्न तिथियों में आपातकालीन लग्न मुहूर्त भी हैं।

हिन्दू धर्म के सोलह संस्कारों में विवाह एक महत्वपूर्ण संस्कार है। ज्योतिष अशोक वार्ष्णेय का कहना है कि विवाह के लिए शुद्ध विवाह मुहूर्त होना चाहिए। वैवाहिक जीवन की माधुर्य सफलता के लिए विवाह के समय गुरु एवं शुक्र का उदय होना आवश्यक है।

वार्ष्णेय के अनुसार हिन्दू पंचांग में इस बार 29 अप्रैल से 28 जून तक शुक्र और 6 मई से 2 जून तक गुरु अस्त रहेगा। जबकि 17 जुलाई से 12 नवंबर तक चातुर्मास्य रहेगा। इस कारण लग्न मुहूर्त नहीं रहेंगे। हालांकि इस वर्ष शुद्ध विवाह मुहूर्त कम ही रहेंगे। लेकिन विभिन्न तिथियों में शुक्र के अस्त और गुरु के उदय की स्थिति में आपातकालीन विवाह मुहूर्त भी हैं, जिनमें शादियां हो सकती हैं।

शुद्ध शुभ विवाह मुहूर्त
अप्रैल-18, 21, 22, 23
जुलाई-11
नवंबर-22, 23, 24, 26
दिसंबर-5, 7, 11

जून में हैं विवाह मुहूर्त
अप्रैल-28, 30
मई-1, 2, 5
जून-11, 12, 16,19, 20, 21, 22, 23, 28, 29, 30

अबूझ मुहूर्त मानकर भी किए जाते हैं विवाह
ज्योतिष वार्ष्णेय के अनुसार शुद्ध शुभ व आपातकालीन के अलावा कुछ अबूझ मुहूर्त भी होते हैं, जिनमें किसी भी प्रकार के मुहूर्त की आवश्यकता नहीं मानी जाती। अक्षय तृतीया, देवोत्थान एकादशी, वसंत पंचमी, भडरिया नवमी, विजयादशमी के दिन को अबूझ मुहूर्त मानकर विवाह किए जाते हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें