ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंडआसमान से बरस रहा पानी, फिर पिथौरागढ़ में इतना जलसंकट क्यों?

आसमान से बरस रहा पानी, फिर पिथौरागढ़ में इतना जलसंकट क्यों?

विधायक मयूख महर ने नगर पालिका अध्यक्ष के जन्म दिन पर उन्हें बधाई देते हुए शहर में पानी के लिए तरस रहे लोगों से जुड़ा सवाल पूछते हुए सोशल मीडिया में चंडाक के किमचौर धार में नगर पालिका की तरफ से बनाए जा

आसमान से बरस रहा पानी, फिर  पिथौरागढ़ में इतना जलसंकट क्यों?
Himanshu Kumar Lallपिथौरागढ़, संवाददाता।Wed, 30 Aug 2023 04:59 PM
ऐप पर पढ़ें

विधायक मयूख महर ने नगर पालिका अध्यक्ष के जन्म दिन पर उन्हें बधाई देते हुए शहर में पानी के लिए तरस रहे लोगों से जुड़ा सवाल पूछते हुए सोशल मीडिया में चंडाक के किमचौर धार में नगर पालिका की तरफ से बनाए जा रहे तालाब व उसमें नपा अध्यक्ष राजेन्द्र रावत के कुछ लोगों के साथ नहाने की फोटो पोस्ट की। कुछ ही समय में यह पूरे शहर व आस पास के क्षेत्रों में यह वायरल हो गई।

विधायक महर ने अपनी पोस्ट में लिखा है कि शहर के लोग पानी के लिए तरस रहे हैं।नगर पालिका अध्यक्ष अपनी मित्र मंडली के साथ 8 करोड़ से बन रहे स्विमिंग पूल में अठखेलियां खेल रहे हैं।उन्होंने पूछा कि आंवलाघाट योजना शहर के लोगों की प्यास बुझाने को बनाई थी या शहर के समृद्ध वर्ग के आंनद के लिए।महर ने कहा कि उन्होंने बजेटी, सरस्वती विहार कलौनी के साथ आस पास के लोगों की प्यास बुझाने के लिए वहां पर योजना बनाई थी।

इससे लोगों की प्यास बुझ रही थी। कहा कि नए हुक्मरानों ने जन कल्याणकारी योजना को ध्वस्त कर वहां समृद्ध वर्ग के आंनद का अड्डा बनाया गया है। कहा कि आने वाले समय में जनता बताएगी कि उनके लिए पेयजल जरुरी है या स्विमिंग पूल। इधर नगर पालिका ने इस पोस्ट के बाद एक प्रेस नोट जारी कर साफ किया है कि इसमें किसी भी पेयजल योजना के पानी का उपयोग नहीं किया ग

ईओ बोले, बारिश के पानी का हो रहा उपयोग
पिथौरागढ़ के किमचौर चंडाक के स्विमिंग पूल के विवाद में पालिका के ईओ राजदेव जायसी ने प्रेस नोट जारी कर पालिका का पक्ष बताया है। उन्होंने कहा है कि वहां पर तालाब बनाने में अब तक 167.86लाख ही खर्च किए गए हैं।15वें वित्त आयोग की संस्तुतियों से प्राप्त धनराशि से वहां पर वर्षा, प्राकृतिक जल के संरक्षण, संवर्द्धन, पुर्नचक्रण के लिए 50 मीटर लंबा व 15मीटर चौड़ा पानी का तालाब बनाया गया है।

कहा कि प्राकृतिक तौर पर बह रहे पानी का एकत्रित कर इसे बनाया गया है। इस स्रोत से पहले कहीं भी पानी नहीं दिया जा रहा था। नगर के लिए बनाई गयी किसी भी पेयजल योजना के पानी का उपयोग नहीं किया गया है। ईओ जायसी ने कहा है कि कार्य पूर्ण होने के बाद इसके अतिरिक्त पानी को बजेटी वार्ड को दिया जा सकेगा।

कहा इसमें अंतरराष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताएं भी होंगी। ईओ ने कहा है कि सीएम ने 100 लाख की धनराशि अवशेष कार्यों के लिए अपनी घोषणा के अनुसार दी है। जिसका उपयोग कर शीघ्र सभी काम पूरे करा लिए जाएंगे।