ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंडचारधाम में VIP दर्शन पर 31 मई तक रहेगी रोक, CM पुष्कर सिंह धामी ने अफसरों को दिए ये सख्त निर्देश

चारधाम में VIP दर्शन पर 31 मई तक रहेगी रोक, CM पुष्कर सिंह धामी ने अफसरों को दिए ये सख्त निर्देश

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने निर्देश दिए कि चारधाम में श्रद्धालुओं के लिए प्रतिदिन की जो क्षमता तय की गई है, उसके अनुसार ही दर्शन के लिए भेजे जाएं। रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था को और मजबूत बनाया जाए।

चारधाम में VIP दर्शन पर 31 मई तक रहेगी रोक, CM पुष्कर सिंह धामी ने अफसरों को दिए ये सख्त निर्देश
Praveen Sharmaदेहरादून। हिन्दुस्तानFri, 17 May 2024 08:48 AM
ऐप पर पढ़ें

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरुवार को ऐलान कि चारों धामों में वीआईपी दर्शन की व्यवस्था 31 मई तक स्थगित रहेगी। पूर्व में यह रोक 25 मई तक ही थी। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से चार धामों में क्षमता के अनुसार ही श्रद्धालु भेजने को कहा है।

गुरुवार को सचिवालय में चारधाम यात्रा व्यवस्थाओं की समीक्षा करते हुए धामी ने कहा कि हमारी पहली प्राथमिकता चारधाम यात्रा पर आने वाले सभी श्रद्धालुओं की सुरक्षा है। उन्होंने श्रद्धालुओं से भी अनुरोध किया कि यात्रा रजिस्ट्रेशन के अनुसार जो तिथि मिली है, उसके अनुसार ही दर्शन के लिए आएं।

धामी ने निर्देश दिए कि चारधाम में श्रद्धालुओं के लिए प्रतिदिन की जो क्षमता तय की गई है, उसके अनुसार ही दर्शन के लिए भेजे जाएं। रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था को और मजबूत बनाया जाए। परिवहन, राजस्व, पुलिस विभाग संयुक्त रूप से चेक पोस्ट पर इसकी निगरानी करें। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि चारधाम के सभी मार्गों के एंट्री पॉइंट के साथ ही विकासनगर, यमुनापुल, धनोल्टी, सुवाखोली में भी सख्ती से चेकिंग की व्यवस्था सुनिश्चित हो। 

प्रतिदिन प्रेस ब्रीफिंग करेंगे अधिकारी

मुख्यमंत्री ने कहा कि चारधाम यात्रा व्यवस्थाओं की जानकारियां लोगों तक स्पष्ट रूप से जाए इसके लिए शासन के वरिष्ठ अधिकारी प्रतिदिन मीडिया ब्रीफिंग करें। उन्होंने पुलिस महानिदेशक को निर्देश दिए कि यातायात प्रबंधन और भीड़ प्रबंधन के लिए स्वयं स्थलीय निरीक्षण करें और चारों धामों में वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को इसकी जिम्मेदारी दी जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि चारधाम यात्रा प्रदेश की लाइफ लाइन है। यह यात्रा राज्य की आर्थिकी से भी जुड़ी है। धामी ने चारधाम यात्रा से जुड़े जिलों रुद्रप्रयाग, चमोली और उत्तरकाशी के डीएम से वर्चुअल माध्यम से चारधाम यात्रा से सबंधित विभिन्न व्यवस्थाओं की जानकारी ली। 

धामों में मंदिर परिसर के 50 मीटर के दायरे में मोबाइल फोन पर रोक

चारधाम के मंदिर परिसरों के 50 मीटर के दायरे में मोबाइल फोन के उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। धामों में रील बना कर भ्रामक सूचनाएं फैलाने वालों के खिलाफ सीधे एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। ऐसे में धामों में अब श्रद्धालु न मोबाइल का इस्तेमाल कर पाएंगे और न ही सोशल मीडिया प्लेटफार्म के लिए रील बना पाएंगे।

मुख्य सचिव ने गुरुवार को सचिव पर्यटन को निर्देश जारी करते हुए आदेश का सख्ती से पालन सुनिश्चित कराने को कहा है।मुख्य सचिव ने कहा कि चारधाम में इस बार पिछले सालों की तुलना में कहीं अधिक श्रद्धालुओं की भीड़ आ रही है। इस बढ़ती भीड़ के कारण धामों में दिक्कतें न हों, इसके लिए भीड़ को नियंत्रित किया जा रहा है। धामों में मंदिर परिसर में मोबाइल से फोटो खींचने, वीडियो बनाने में श्रद्धालु काफी समय लगा रहे हैं। इसके कारण आसपास अनावश्यक भीड़ हो रही है।

रील बना कर लोग गलत संदेश दे रहे हैं। ये एक तरह का जुर्म है। ऐसा करने वालों के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। यात्रा के लिए जाने वाले आस्था, श्रद्धा के साथ आते हैं। जो लोग रील बना रहे हैं, उससे साफ है कि वो श्रद्धा और आस्था से नहीं आ रहे हैं। बल्कि सिर्फ घूमने और रील बनाने आ रहे हैं। इनके कारण श्रद्धा से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए परेशानी खड़ी की जा रही है। किसी की भी आस्था को ठेस न पहुंचे। जो लोग ऐसा कर रहे हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई होगी।