DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऑलवेदर रोड परियोजना के निर्माण से प्रभावित ग्रामीणों ने बाजार कराया बंद

1 / 2रुद्रप्रयाग में सरकार के विरोध में जुलूस निकालकर प्रदर्शन करते लोग।

2 / 2रुद्रप्रयाग में शुक्रवार को बंद के दौरान प्रदर्शन करते व्यापारी और स्थानीय लोग।

PreviousNext

ऑलवेदर रोड परियोजना के निर्माण से प्रभावित हो रहे व्यापारी एवं भवन स्वामियों को मुआवजे और पुनर्वासित करने की मांग को लेकर रुद्रप्रयाग बंद का असर व्यापक दिखा। मुख्यालय सहित पूरी केदारघाटी में सभी दुकानें बंद रही। इस दौरान रुद्रप्रयाग में व्यापारियों ने जोरदार प्रदर्शन करते हुए सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। इस मौके पर जिलाधिकारी के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा गया। व्यापारी एवं भवन स्वामियों के हितों के लिए रुद्रप्रयाग बंद के समर्थन में रुद्रप्रयाग के अलावा तिलवाड़ा, खांकरा, नरकोटा, अगस्त्यमुनि, सुमाड़ी, मयाली, भीरी, चन्द्रापुरी, गुप्तकाशी, ऊखीमठ, फाटा, सोनप्रयाग, सतेराखाल, चोपता, घिमतोली आदि स्थानों में भी बाजार बंद रहे। बंद के व्यापक असर के चलते लोगों को चाय-पानी तक नसीब नहीं हो सका। शुक्रवार को चारधाम परियोजना संघर्ष समिति के बैनर तले परियोजना प्रभावित और व्यापारी बड़ी संख्या में रुद्रप्रयाग बाजार में एकत्रित हुए। प्रभावितों ने शहर में रैली निकालते हुए केन्द्र और राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। सभा में संघर्ष समिति के अध्यक्ष मोहित डिमरी ने कहा कि सरकार ने परियोजना प्रभावित व्यापारियों और भवन स्वामियों को मुआवजा और उनके पुनर्वास की व्यवस्था नहीं की तो पूरे पहाड़ में उग्र आंदोलन छेड़ा जाएगा। उन्होंने जिला बंद की सफलता के लिए सभी व्यापार संगठनों का आभार व्यक्त किया। व्यापार संघ रुद्रप्रयाग के जिलाध्यक्ष देशराज डुडेजा ने कहा कि प्रभावित व्यवसायियों और भवन स्वामियों को न्यूनतम 10 लाख रुपए और सम्पत्ति का मूल्यांकन कर उसका चार गुना मुआवजा दिया जाए। व्यापार संघ खांकरा के अध्यक्ष बुद्धिबल्लभ ममगांई और प्रधान प्रदीप मलासी ने कहा कि सिरोबगड़ बाईपास पर तीसरा पुल निरस्त किया जाए, जिससे सम्पूर्ण बच्छणस्यूं क्षेत्र राजमार्ग की मुख्यधारा से जुड़ा रहे। समिति के सदस्य जोत सिंह बिष्ट, कृष्णानंद डिमरी, अजय भंडारी, मगनानंद भट्ट, डॉ अमित रतूड़ी ने कहा कि कई पीढ़ियों से संचालित हो रहे मकानों को उजड़ने से उनके संचालन और उनमें कार्य कर रहे हजारों परिवारों के सामने रोजगार का संकट खड़ा हो जाएगा। महामंत्री अशोक चैधरी ने कहा कि आज  कई चुनौतियां खड़ी हैं। 

नगर पालिका अध्यक्ष ने दिया समर्थन
नगर पालिका अध्यक्ष गीता झिंक्वाण ने कहा कि प्रभावितों के हितों की लड़ाई में वह सदैव साथ है। प्रभावितों को उनका हक मिलना चाहिए। व्यापार संघ तिलवाड़ा के अध्यक्ष सुरेन्द्र सकलानी और सुमाड़ी के अध्यक्ष विक्रम सजवाण ने कहा कि व्यवसायियों के लिए नए बाजार बनाया जाए ताकि उनका रोजगार सुचारू रूप से चल सके।  

 
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:villagers hold protest against all weather road in rudraprayag district