Sunday, January 23, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तराखंडविधानसभा चुनाव-2022 करीब देख मंत्री चले अपने-अपने विधानसभा क्षेत्र

विधानसभा चुनाव-2022 करीब देख मंत्री चले अपने-अपने विधानसभा क्षेत्र

हिन्दुस्तान टीम, देहरादूनHimanshu Kumar Lall
Sun, 28 Nov 2021 09:37 AM
विधानसभा चुनाव-2022 करीब देख मंत्री चले अपने-अपने विधानसभा क्षेत्र

विधानसभा चुनाव-2022 की दिन-ब-दिन बढ़ती सरगर्मियों के बीच प्रदेश के सभी मंत्रियों ने भी अपने-अपने विधानसभा क्षेत्रों का रुख कर लिया। नवंबर के महीने में ज्यादातर मंत्री अपने-अपने विधानसभा क्षेत्रों में ही डेरा डाले रहे। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज जरूर इस महीने में पहली बार अपने विस क्षेत्र चौबट्टाखाल गए हैं। क्षेत्र के लोगों से अपनत्व बढ़ाने, पुराने रिश्तों में दोबारा ऊर्जा भरने के लिए मंत्री हर शादी-ब्याह, जन्मदिन समारोहों में शामिल हो रहे हैं। चुनावी रणनीति के तहत संगठनात्मक सक्रियता भी बढ़ा दी है। 

धन सिंह, श्रीनगर 
श्रीनगर में जनसंपर्क और दून से विकास पर नजर

डॉ. धन सिंह रावत पंद्रह दिन से ज्यादा वक्त श्रीनगर के विभिन्न क्षेत्रों में भ्रमण और कार्यक्रमों में शामिल हुए। अभी हाल में उन्होंने श्रीनगर की जनता को 20 हजार लीटर पानी प्रतिमाह फ्री देने की घोषणा भी की। देहरादून में रहते हुए भी वो श्रीनगर के मु्ददों पर अक्सर बैठकें करते हुए अधिकारियों को निर्देश दे रहे हैं। विवाह आदि मांगलिक कार्यक्रमों में तो धन सिंह की भागीदारी हैं ही, साथ ही वो पुराने कार्यकर्ताओं से भी घर-घर जाकर मिल रहे हैं। डॉ. रावत कहते हैं कि साढ़े चार साल के कार्यकाल में श्रीनगर में ऐतिहासिक विकास कार्य किए गए हैं। केवल नवंबर ही नहीं बल्कि अपने क्षेत्र की जनता के हर सुख-दुख में वे सदैव साथ हैं। 

सुबोध उनियाल, नरेंद्रनगर 
हर दिन सात से आठ शादी समारोहों में शामिल हुए 

सुबोध उनियाल पिछले काफी समय से नरेंद्रनगर और ऋषिकेश क्षेत्र में सक्रिय हैं। इस महीने उनका करीब-करीब पूरा वक्त नरेंद्रनगर क्षेत्र में गुजरा है। कुंजापुरी मेला, स्थानीय रामलीला, मंदिरों के उदघाटन, मसाला-सब्जी महोत्सव जैसे कार्यक्रम भी हाल में हुए हैं। जनसंपर्क के साथ सरकारी बैठकों में सुबोध लगातार शामिल हो रहे हैं। हर दिन सात से आठ शादियों और मेंहदी कार्यक्रमों नजर आए। बकौल सुबोध- मेरा ज्यादातर वक्त अपने क्षेत्र में ही गुजरता है। राजकाज के लिए देहरादून में विधानसभा, सचिवालय में समय बचने के बाद नरेंद्रनगर में अपने क्षेत्र के लोगों के बीच रहकर उनकी समसयाओं को हल करने का प्रयास करता हूं।

रेखा आर्य, सोमेश्वर
क्षेत्र भ्रमण, सैनिक और शिक्षकों का किया सम्मान

बाल विकास एवं महिला सशक्तिकरण कैबिनेट मंत्री रेखा आर्य ने नवंबर माह में अधिकांश समय विधानसभा क्षेत्र सोमेश्वर के भ्रमण में बिताया। इस दौरान कैबिनेट मंत्री ने कई कार्यक्रम आयोजित किए। जिनमें दौलाघाट में भूतपूर्व सैनिक सम्मान समारोह आयोजित कर पूर्व सैनिकों और उनके परिजनों को सम्मानित किया गया। जिसमें केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट मौजूद रहे। रामलीला मंच सोमेश्वर में आयोजित सम्मान समारोह में एकल विद्यालय के शिक्षकों को टैबलेट देकर सम्मानित किया गया। उन्होंने नवंबर माह में क्षेत्र में एक दर्जन से अधिक शादी समारोहों में भी भाग लिया।

सतपाल महाराज, चौबट्टाखाल
शनिवार को ही अपने विस क्षेत्र चौबट्टाखाल पहुंचे

नवंबर महीने में महाराज अब पहली बार अपने क्षेत्र में आए हैं। अक्तूबर में जरूर वो पूरा हफ्ता क्षेत्र में डटे रहे। महाराज के जनसंपर्क अधिकारी निशीथ सकलानी ने बताया कि महाराज ने क्षेत्र में कई विकास योजनाओं का लोकापर्ण और शिलान्यास किया है। महाराज जरूर इस महीने अब चौबट़्टाखाल गए हैं, लेकिन अपने क्षेत्र के लोगों के साथ वो लगातार संपर्क में है। महाराज का कहना है कि हर-हर मोदी घर-घर मोदी के तहत पार्टी जनसंपर्क कर रही हैं। 

गणेश जोशी, मसूरी 
शहीद सम्मान यात्रा को ज्यादा समय दे रहे जोशी 

सैनिक कल्याण मंत्री का नवंबर का महीना उनकी महत्वाकांक्षी शहीद सम्मान यात्रा के साथ बीत रहा है। 15 नवंबर से सवाड़यात्रा के बीच समय निकालकर वो अपने क्षेत्र में भी वक्त दे रहे हैं। शनिवार को भी जोशी यात्रा की तैयारियों के लिए अल्मोड़ा में थे। चूंकि यात्रा सात दिसंबर को देहरादून में पूरी होनी है। इसलिए जोशी का ज्यादा वक्त प्रदेश के दूसरे जिलों में ही बीतना है। जोशी के पीआरओ मनोज जोशी ने बताया कि मंत्री जोशी क्षेत्र से बाहर होने पर भी लगाता संपर्क में रहते हैं। 

बंशीधर भगत, कालाढुंगी
25 करोड़ के निर्माण कार्यों का कराया शिलान्यास

कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत नवंबर माह में 15-20 दिन अपने विस क्षेत्र में रहे। वह क्षेत्र में इन दिनों विकास योजनाओं के शिलान्यास और लोकार्पण कार्यक्रमों में हिस्सा ले रहे हैं। वह इस माह क्षेत्र में 25 करोड़ से सड़क, नलकूप, पेयजल की योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण कर चुके हैं। वह क्षेत्र में होने वाले अधिकांश वैवाहिक और सार्वजनिक कार्यक्रमों में हिस्सा ले रहे हैं। शनिवार को उन्होंने हल्द्वानी में हुई सैनिक सम्मान यात्रा में हिस्सा लिया। 

अरविंद पांडेय, गदरपुर
साइकिल से क्षेत्र में घर-घर जनसंपर्क कर रहे 

नवंबर के महीने में पांडेय चंद रोज के लिए दून आए, बाकी उनका वक्त गदरपुर में ही बीत रहा है। नए अंदाज में जनसंपर्क करते हुए पांडेय सुबह-सुबह अपने क्षेत्र में साइकिल से भी भ्रमण कर रहे हैं। जहां सुबह की एक्सरसाइज हो रही है, वहीं लोगों से मिलना जुलना भी हो रहा है। मंत्री पांडे एक माह के भीतर सौ से ज्यादा शादी अटेंड कर चुके हैं। पांडेय कहते हैं कि मैंने चुनाव के समय पर विकास कार्य शिलान्यास का कार्य नहीं किया है। पूरे साढ़े चार  साल जनता के बीच रहकर उनकी समस्याओं के सुनने के साथ ही क्षेत्र में विकास कार्य किए हैं। 

यतीश्वरानंद, हरिद्वार ग्रामीण 
आश्रम में दो घंटे जन समस्याएं सुनते हैं मंत्री

काबीना मंत्री बनने के बाद से यतीश्वरानंद ने क्षेत्र में सक्रियता को काफी बढ़ा दिया था। शादी-ब्याह के साथ-साथ वो जन्मदिन पार्टियों में भी शामिल हो रहे हैं। शुरू से ही वो हफ्ते के चार दिन अपने क्षेत्र में रहते हैं। नवंबर में भी यह नियम जारी रहा। इन दिनों हो रहे मांगलिक कार्यक्रमों में भी उनकी लगातार उपस्थिति देखी जा रही है। लोगों से ज्यादा-ज्यादा करीब रहने के लिए वो हर कार्यक्रम को वक्त दे रहे हैं। इसके साथ-साथ अपने वेद आश्रम कैंप कार्यालय में सुबह रोजाना दो घंटे लोगों की समस्याओं को सुनते हैं।  

बिशन सिंह चुफाल, डीडीहाट
सैनिकों का सम्मान, हर विवाह में भी भागीदारी

कैबिनेट मंत्री बिशन सिंह चुफाल ने नवंबर माह में अधिकांश समय डीडीहाट क्षेत्र में बिताया। इस दौरान उन्होंने आपदाग्रस्त क्षेत्रों का भम्रण कर जनसमस्याएं सुनीं। भूतपूर्व सैनिक सम्मान समारोह कार्यक्रम के दौरान भी उन्होंने पूर्व सैनिकों और उनके परिजनों को सम्मानित किया। डीडीहाट महोत्सव, अस्कोट महोत्सव में भी कैबिनेट मंत्री पहुंचे। नवंबर माह में क्षेत्र में 15 से 
अधिक शादी समारोहों में भी कैबिनेट मंत्री पहुंचे। 

हरक दून और कोटद्वार में सक्रिय
डा. हरक सिंह रावत भी चुनावी रणनीति बनाने में व्यस्त हैं। इन दिनों दून के साथ-साथ वो कोटद्वार में भी लगातार कार्यक्रमों में शामिल हो रहे हैं। कई शादियों में भी शामिल होकर उन्होंने अपनी मौजूदगी दर्ज की। वहीं कर्मचारियों को लुभाने के लिए वो रिटायरमेंट पार्टियों के हर न्योते को स्वीकार कर रहे हैं। एक रिटायरमेंट पार्टी में उनके नृत्य की वीडियो काफी वायरल भी हुआ है। 

 

epaper

संबंधित खबरें