DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तराखंड › जम्मू-कश्मीर में मुसीबत की बरसात: किश्तवाड़ में तबाही के बाद अमरनाथ गुफा के पास भी फटा बादल
जम्मू और कश्मीर

जम्मू-कश्मीर में मुसीबत की बरसात: किश्तवाड़ में तबाही के बाद अमरनाथ गुफा के पास भी फटा बादल

लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीPublished By: Nishant Nandan
Wed, 28 Jul 2021 08:23 PM
जम्मू-कश्मीर में मुसीबत की बरसात: किश्तवाड़ में तबाही के बाद अमरनाथ गुफा के पास भी फटा बादल

जम्मू कश्मीर में स्थित अमरनाथ गुफा के पास बादल फटने की घटना हुई है। गुफा के पास बादल फटने का एक वीडियो भी सामने आया है। शुरुआती जानकारी के मुताबिक इस घटना में बीएसएफ और सीआरपीएफ के कैंप को नुकसान पहुंचा है। हालांकि, बादल फटने की इस घटना में किसी के हताहत होने की सूचना अभी नहीं है। वहां एसडीआरएफ की दो टीमें पहले से तैनात थीं। एक अतिरिक्त टीम को भी वहां भेजा गया है। बता दें कि इस वर्ष अमरनाथ यात्रा स्थगित होने के चलते गुफा के पास कोई यात्री मौजूद नहीं हैं। केवल श्राइन बोर्ड के कर्मचारी और सुरक्षाकर्मी वहां तैनात हैं। न्यूज एजेंसी 'ANI' ने जो वीडियो शेयर किया है उसमें बादल फटने की घटना को देखा जा सकता है।

वीडियो में कुछ लोगों की आवाज भी सुनाई दे रही है। जिससे यह अंदाजा लगाया जा रहा है कि इस वीडियो को मोबाइल से बनाया गया है। पवित्र अमरनाथ गुफा के पास बादल फटने की घटना को लेकर केंद्रीय गृहमंत्री ने लिखा कि 'बाबा अमरनाथ की पवित्र गुफा के पास बादल फटने के संबंध में मैंने जम्मू-कश्मीर के LG श्री मनोज सिन्हा जी से बात कर जानकारी ली है। राहत कार्यों व स्थिति के सटीक आकलन के लिए NDRF की टीमें वहाँ भेजी जा रही हैं।'

बता दें कि कोरोना महामारी को देखते हुए जम्मू कश्मीर प्रशासन ने अमरनाथ यात्रा को पिछले 2 सालों से रद्द कर रखा है। इस साल यह यात्रा 28 जून से शुरू होकर 22 अगस्त तक चलनी थी, लेकिन कोरोना की वजह से इसे लगातार दूसरे साल रद्द कर दिया गया। अमरनाथ की गुफा में बर्फ से प्राकृतिक शिवलिंग बनता है। यह सबसे कठिन तीर्थ यात्राओं में से एक है। यहां मौसम खराब रहता है। ऑक्सीजन की कमी रहती है। भूस्खलन और भारी बारिश का खतरा बना रहता है।

आपको बता दें कि इससे पहले जम्मू कश्मीर के किश्तवाड़ में बुधवार को बादल फटने से भारी तबाही हुई है। अब तक 7 लोगों के शव बरामद किये जा चुके हैं। कई लोग अभी भी लापता बताए जा रहे हैं। स्थानीय प्रशासन, एसडीआरएफ और सेना मौके पर राहत और बचाव के काम में जुटी हुई है। सेना की 17 राष्ट्रीय राइफल्स की टीम मदद में जुटी हुई है। इसका भी एक वीडियो सामने आया है। 

यह घटना दाचन तहसील के होनजार गांव में सुबह के वक्त हुई है। इस घटना से प्रभावित लोगों के लिए खाना, सूखा राशन, दवाइयों आदि की व्यवस्था की गई है।इधर कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में करगिल के अलग-अलग इलाकों में बादल फटने की दो घटनाएं हुई हैं। विभिन्न क्षेत्रों में दो बादल फटने से एक लघु पनबिजली परियोजना, लगभग एक दर्जन मकान और खड़ी फसलों को नुकसान पहुंचा है।

संबंधित खबरें