DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हिन्दुस्तान एक्सक्लूसिव: जानें, कहां लिखा गया था देश का पहला ‘वेलेंटाइन डे’ लेटर

देश का पहला ‘वेलेंटाइन डे’ पत्र मसूरी से लिखा गया था - 14 फरवरी 1843 में मोगर मांक ने अपनी बहन मारग्रेट मांक को लिखे पत्र में किया था ‘वेलेंटाइन डे’ का जिक्र

हैप्पी वेलेंटाइन डे

वैलेंटाइन-डे पर आज के युवा महज प्यार के बंधन तक ही सीमित हैं। शायद ही किसी ने वैलेंटाइन डे की उत्पति और इसके पीछे छिपी बड़ी घटनाओं को जाना हो। युवा पीढ़ी आज वैलंटाइन डे देश के हर सूबे और कस्बे में धूमधाम से मनाती है।  दुनिया में वेलेंटाइन डे शुरु होने के पीछे कई मतभेद है वहीं अगर देश की बात की जाएं तो  मसूरी मर्चेंट द इंडियन लैटर्स पुस्तक में लिखे पत्र से साफ हो जाता है कि देश में  वैलेंनटाइन की शुरूआत 1843 में हुई थी।  

इसे इत्तेफाक ही कहें कि इसकी शुरूआत भी उत्तराखंड के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल मसूरी से हुई।  इंग्लैंड में जन्मे  मोगर मांक  उन दिनों मसूरी में जॉन मेकेनन के बार्लोगंज स्थित में स्कूल में लेटिन भाषा के शिक्षक थे। इसी दौरान उन्हे एलिजाबेथ लुईन से प्यार हो गया। जिसके बाद मोगर मांक ने 14 फरवरी 1843 को मसूरी से एक खत अपनी बहन के नाम इंग्लैंड ‘यूके’ प्रेषित किया। जिसमें उन्होंने अपनी बहन मारग्रेट मांक को नाम लिखे खत में अपनी भावनाओं को उजागर करते हुए कहा कि ‘प्रिय बहन, आज वैलेंनटाइन डे के दिन में यह पत्र लिख रहा हूं।  मुझे एलिजाबेथ लुईन से प्यार हो गया है। मैं उसके साथ बहुत खुश है। वेलेंटाइन डे के दिन लिखा गया इस बार का पता तब चला जब 150 साल बाद मोगर मांक के रिशतेदार एंडयू मारगन ने 1828 से 1849 के बीच लिखे गए पत्रों का जिक्र मसूरी मर्चेंट द इडियंन लैटर्स पुस्तक में किया। देश में पहली बार प्रेम के इस पत्र का रिकार्ड  बुक में दर्ज होने से माना जाता है  कि इसी दिन से भारत में वेलेंटाइन डे का आगाज हुआ था। 

वैलेंनटाइन डे महज प्यार की सीमाओं में बंधना नहीं है। एक ऐसा दोस्त जिसे देख पहली नजर में तुम्हारे दिल में उसके प्रति सम्मान के साथ प्यार झलकता हो वास्तव में वह आपका  वैलंनटाइन डे स्पेशल बन सकता है। वैलेंनटाइन प्रपोज का अर्थ प्यार और विवाह ही हो ऐसा आवश्यक नहीं है। वैलेंनटाइन प्रपोज करने से पूर्व अपने खास मित्र को समझें, परखें और सम्मान करें। फिर देखिए आपका वैलेंटाइन का स्पेशल दोस्त कैसे ताउम्र आपका अपना बन के रह जाता है।

 

यूरोप में वेलेंटाइन डे हजारों साल पहले से मनाया जाता है। लेकिन ऑन रिकार्ड के अनुसार मोगर मांक 1828 से 1849 तक मसूरी में रहे। इस दौरान उन्होंने सर्वप्रथम वैलेंटाइन डे का जिक्र 14 फरवरी 1843 में अपनी बहिन को लिखे पत्र में  किया। इससे साफ हो जाता है कि भारत में इसकी शुरुआत उसी दौरान हुई। इससे पहले का आज तक कोई रिकार्ड उपलब्ध नही है जिसमें वेलेंटाइन डे का जिक्र हुआ हो। 
गोपाल भारद्वाज, इतिहासकार

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:valentine day first letter was written by mauger monk on 14 February 1843 in mussoorie in uttarakhand