ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंडउत्तरकाशी टनल: चोर-पुलिस तो कभी राजा-मंत्री का खेल, जिंदगी की जंग में 17वें दिन मौत को ऐसे दी मात 

उत्तरकाशी टनल: चोर-पुलिस तो कभी राजा-मंत्री का खेल, जिंदगी की जंग में 17वें दिन मौत को ऐसे दी मात 

उत्तरकाशी में सिलक्यारा सुरंग में फंसे 41 मजदूरों ने आखिरकार मौत को मात दे दी। टनल में फंसे होने के बावजूद भी उनके हौसलें में कोई कमी नहीं आई थी। एक-दूसरे को हौसला देकर सभी मजदूर सुरक्षित बाहर निकले।

उत्तरकाशी टनल: चोर-पुलिस तो कभी राजा-मंत्री का खेल, जिंदगी की जंग में 17वें दिन मौत को ऐसे दी मात 
Himanshu Kumar Lallउत्तरकाशी, लाइव हिन्दुस्तानSat, 02 Dec 2023 11:56 AM
ऐप पर पढ़ें

उत्तरकाशी में सिलक्यारा सुरंग में फंसे 41 मजदूरों ने आखिरकार मौत को मात दे दी। टनल में फंसे होने के बावजूद भी उनके हौसलें में कोई कमी नहीं आई थी। 17वें दिन टनल से बाहर निकलने के पर यकीनन उनको जीवनदान मिला। टनल के अंदर का वीडियो में सामने आने के बाद मजदरों की हालत का इसी बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि सभी मजदूरों ने लड़कर मौत को आखिरकार मात दे दी।  

टनल के अंदर का मंजर यकीनन डराने वाला है। तो दूसरी ओर सुंरग के बाहर तमाम एजेंसियां रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी हुईं थीं। सिलक्यारा में भूस्खलन होने के बाद जब हम लोग सुरंग में फंसे तो पहले दो दिन तक मोबाइल फोन में गेम खेला, कहानियां देखीं, फेसबुक चलाया, लेकिन फोन का चार्ज खत्म होने के बाद समय काटना दूभर हुआ तो ख्याल आया कि क्यों न बचपन के खेल फिर से खेले जाएं।

हमने चोर-पुलिस, राजा-मंत्री का कागज में गेम खेला, लेकिन सच कहूं तो सुरंग में 17 दिन काटने वाकई 17 साल गुजारने के बराबर थे। ये बातें एम्स ऋषिकेश से डिस्चार्ज होकर शुक्रवार शाम अपने घर पहुंचे पुष्कर ऐरी ने साझा कीं। सुरंग से सकुशल निकलने के बाद घर पहुंचे बेटे पुष्कर को मां गंगा देवी ने आंगन में पहुचते ही गले से लगा लिया।

पिता राम सिंह ऐरी की आंखों में भी खुशी आंसू थे। उधर श्रावस्ती के सभी छह मजदूर अंकित, राम सुन्दर, संतोष, राम मिलन व सत्यदेव शुक्रवार देर रात करीब आठ बजे अपने घर पहुंचे। अपनों को देखते ही परिजनों की आंखों से आंसुओं की धारा बहने लगी।

श्रमवीर गबर सिंह का घर पहुंचने पर स्वागत
उत्तरकाशी की सिलक्यारा सुरंग में 17 दिन तक फंसे रहे कोटद्वार बिशनपुर लालपानी निवासी गबर सिंह नेगी के सकुशल घर पहुंचने पर क्षेत्रीय जनता द्वारा जोरदार स्वागत किया गया। भाजपा कांग्रेस सहित सभी लोगों ने उनकी सकुशल वापसी पर उन्हें फूलमालाओं से लाद दिया। इस दौरान स्थानीय लोगों ने खुशी जाहिर की।

जहां कौडिया में उनका स्वागत किया गया। वहीं उनकी सकुशल वापसी पर क्षेत्र के लोगों का उनके घर पहुंचने का क्रम लगातार जारी है। जहां भाजपा जिलाध्यक्ष बीरेन्द्र रावत व उनके साथियों द्वारा कौडिया में उनका जोरदार स्वागत किया गया। वहीं पूर्व काबीना मंत्री सुरेन्द्र सिंह नेगी ने उनके घर पहुंचकर उन्हें फूल मालायें पहनाईं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें