DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रोडवेज में तीसरी बार गड़बड़ी पर जाएगी नौकरी,कर्मचारियों का सर्विस रिकॉर्ड भी खंगाला

उत्तराखंड परिवहन निगम (रोडवेज) ने अपनी माली हालत को सुधारने के लिए सख्त फैसले लेने शुरू कर दिए हैं। अब तीसरी बार भ्रष्टाचार में पकड़े जाने वाले कर्मचारियों को सीधे नौकरी से हटा दिया जाएगा। रोडवेज प्रबंधन ने सभी डिपो के सहायक महाप्रबंधकों को यह आदेश जारी कर दिया है। रोडवेज प्रबंधन ने पहली बार साढ़े सात हजार नियमित और अनियमित कर्मियों का सर्विस रिकॉर्ड खंगाला है। इसमें सेवाकाल से लेकर अभी तक के कामों की समीक्षा की गई तो चौंकाने वाले तथ्य पता चले। 10 कर्मचारी ऐसे मिले हैं, जिनको 20 से अधिक बार दंड मिल चुका है। 33 कर्मियों को 15 या 15 से अधिक और 109 कर्मचारियों को 10 से ज्यादा बार भ्रष्टाचार में पकड़े जाने के बाद रिकवरी कर छोड़ दिया गया है। इस समीक्षा में कुल 350 कर्मी ऐसे पाए गए, जिनका सर्विस रिकॉर्ड बहुत खराब है। प्रबंधन ऐसे कर्मचारियों को रोडवेज की माली हालत का जिम्मेदार मान रहा है। इसलिए उसने कड़े फैसले लेने शुरू कर दिए हैं। प्रबंधन तीसरी बार भ्रष्टाचार में पकड़े जाने वाले कर्मचारियों को किसी भी सूरत में नहीं बख्शेगा। ऐसे कर्मियों को नौकरी से हटा दिया जाएगा। प्रबंधन ने इसके आदेश भेज दिए हैं।

अभी ऐसे होती थी कार्रवाई 
अभी तक बेटिक, डीजल चोरी समेत दूसरे मामलों में पकड़े जाने वाले कर्मियों पर बड़ी कार्रवाई नहीं होती थी। ऐसे कर्मियों से वसूली कर उन्हें छोड़ दिया जाता था। यही कारण है कि रोडवेज का घाटा बढ़ता रहा। भ्रष्ट प्रवृत्ति वाले कर्मचारी सुधरने का नाम नहीं ले रहे थे। मगर अब रोडवेज की ओर से कड़ा कदम उठाने के बाद कर्मचारियों में नौकरी से हटने का डर रहेगा।

चुनाव के बाद होगी बैठक 
इस समीक्षा में जिन 350 कर्मियों का सर्विस रिकॉर्ड खराब पाया गया है, उन पर कार्रवाई की जानी है। इसमें कुछ कर्मियों को सीधे घर भेजने की तैयारी है। इसके लिए प्रबंध निदेशक बीके संत ने महाप्रबंधक (प्रशासन) निधि यादव की अध्यक्षता में छह सदस्यीय समिति बनाई है। समिति अध्यक्ष निधि यादव ने बताया कि इस समिति की बैठक बीस नवंबर के बाद होगी।

रोडवेज की माली हालत सुधारना जरूरी
भ्रष्ट कर्मचारियों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। तीसरी बार भ्रष्टाचार में पकड़े जाने वाले कर्मचारियों को नौकरी से हटाने की कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए सभी एजीएम को आदेश कर दिए हैं। रोडवेज की माली हालत सुधारने के लिए सख्त फैसले लेने जरूरी हो गए हैं। 
निधि यादव,महाप्रबंधक (प्रशासन) उत्तराखंड परिवहन निगम 
 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:uttarakhand transport corporation to take stringent action against corrupt employees