DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तराखंड › बदीनाथ,केदारनाथ सहित चारों धामों में क्या शुरू होगी यात्रा ? देवस्थानम् बोर्ड को 01 जुलाई तक तैयारियां पूरी करने के निर्देश
उत्तराखंड

बदीनाथ,केदारनाथ सहित चारों धामों में क्या शुरू होगी यात्रा ? देवस्थानम् बोर्ड को 01 जुलाई तक तैयारियां पूरी करने के निर्देश

हिन्दुस्तान टीम, देहरादून Published By: Himanshu Kumar Lall
Wed, 16 Jun 2021 11:41 AM
बदीनाथ,केदारनाथ सहित चारों धामों में क्या शुरू होगी यात्रा ? देवस्थानम् बोर्ड को 01 जुलाई तक तैयारियां पूरी करने के निर्देश

उत्तराखंड में कोरोना केसों की कमी के बीच सरकार चारधाम यात्रा शुरू करने के मूड में दिख रही है। अगर यात्रा शुरू करने की मंजूरी मिल जाती है तो गंगोत्री, बदरीनाथ, केदारनाथ सहित यमुनोत्री धामों के श्रद्धालु दर्शन कर पाएंगे। सरकारी प्रवक्ता व कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने चारधाम देवस्थानम् बोर्ड को एक जुलाई तक यात्रा से जुड़ी सभी तैयारियां पूरी करने का निर्देश दिया है। उनियाल ने कहा कि हाईकोर्ट के निर्देशों के आधार पर ही चारधाम यात्रा शुरू करने पर विचार किया जाएगा। देश और प्रदेश में कोरोना माहमारी के चलते सरकार ने पिछले साल 2020 में भी यात्रा शुरू करने की अनुमति नहीं दी थी। 

2021 में भी कोविड केसों के चलते यात्रा को रद्द कर दिया गया है, हालांकि चारों धामों के कपाट अपने तय सीमा पर ही खुले थे। सरकार ने इससे पहले 15 जून को श्रद्धालुओं के लिए आंशिक तौर से चारधाम यात्रा शुरू करने का फैसला लिया था। पहले चरण में उत्तरकाशी, चमोली और रुद्रप्रयाग जिलों के निवासियों को धाम में जाने की अनुमति दी थी। तीनों जिलों से मंदिरों में दर्शन को जा रहे श्रद्धालुओं के पास 72 घंटे की कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट होना अनिवार्य किया गया था। रुद्रप्रयाग जिले के लोग केदारनाथ धाम, चमोली जिले के यात्री बदरीनाथ धाम और उत्तरकाशी जिले के श्रद्धालुओं को गंगोत्री व यमुनोत्री धामों के दर्शन की अनुमति दी गई थी।

 

 

लेकिन, हाईकोर्ट में सुनवाई के चलते सरकार ने फैसला पलट दिया था। आपको बता दें कि यमुनोत्री धाम के कपाट 14 मई, गंगोत्री 15 मई, केदारनाथ 17 मई और बदरीनाथ धाम के कपाट 18 मई को खोल दिए गए थे। लेकिन, कोरोना संक्रमण की वजह से सरकार ने श्रद्धालुओं को यात्रा करने की अनुमति नहीं दी थी। वहीं  दूसरी ओर, तीर्थ-पुरोहित देवस्थानम्  बोर्ड को कैंसिल सहित यात्रा शुरू करने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। 

संबंधित खबरें